मुद्रा जोड़े

इथेरियम में निवेश कैसे करें

इथेरियम में निवेश कैसे करें

क्रिप्टो के इतिहास में सबसे बड़ा दिन, पूरा हुआ एथेरियम मर्ज, ट्रेडिंग पर क्या होगा असर?

क्रिप्टो के इतिहास में सबसे बड़ा दिन, पूरा हुआ एथेरियम मर्ज, ट्रेडिंग पर क्या होगा असर?

एथेरियम नेटवर्क के इस अपग्रेड में बड़े बदलाव शामिल हैं. इसमें एक नई माइनिंग एल्गोरिदम का इस्तेमाल होगा. माइनिंग के डिसेंट्रलाइजेशन के प्रयास में Proof of Work को एक नई एल्गोरिदम Proof of Stake के साथ रिप्लेस किया जा रहा है.

एथेरियम (Ethereum) और ब्लॉकचेन की दुनिया में ये एक ऐतिहासिक दिन है. दुनिया के दूसरे सबसे बड़े क्रिप्टो टोकन Ethereum में खास सॉफ्टवेयर अपग्रेड हुआ है. इसे 'Merge' का नाम दिया गया है. यह अपग्रेड नए कॉइन बनाने और ट्रांजेक्शन करने के लिए आवश्यक ऊर्जा की मात्रा को कम करता है. ऐसे में एथेरियम नेटवर्क अब बहुत अधिक दिलचस्प होने वाला है.

क्या है एथेरियम?

एथेरियम पहली बार साल 2014 में लॉन्च हुआ था. दूसरे ब्लॉकचेन की तरह, एथेरियम भी कंप्यूटरों के नेटवर्क पर शेयर किया जाने वाला एक डिजिटल डेटाबेस है. यह क्रिप्टोकरेंसी एथेरियम, और दूसरे एथेरियम-बेस्ड डिजिटल एसेट्स जैसे NFTs के स्वामित्व को रिकॉर्ड करता है.

समर्थकों का कहना है कि एथेरियम इंटरनेट के लिए "Web 3" की रीढ़ की हड्डी बनेगा.

अब ये मर्ज क्या है?

"मर्ज" एथेरियम के लेन-देन को प्रोसेस करने के तरीके और नए एथेरियम टोकन कैसे बनाए जाते हैं, में एक बदलाव है. इसमें एथेरियम ब्लॉकचेन को एक नए अलग ब्लॉकचेन के साथ जोड़ना शामिल था. चेन के टर्मिनल टोटल डिफिकल्टी नंबर (TTD) के 58750000000000000000000 तक पहुंचने के बाद मर्ज हुआ. यह एथेरियम के मुख्य डेवलपर्स द्वारा पहले से निर्धारित मूल्य है. डेवलपर्स का कहना है कि नया सिस्टम, जिसे "प्रूफ-ऑफ-स्टेक" (proof-of-stake) के रूप में जाना जाता है, एथेरियम ब्लॉकचेन की ऊर्जा खपत को 99.9% तक कम कर देता है.

बिटकॉइन सहित अधिकांश ब्लॉकचेन, बड़ी मात्रा में ऊर्जा का उपभोग करते हैं, कुछ निवेशकों और पर्यावरणविदों ने आलोचना की है.

एथेरियम फाउंडेशन, जोकि एक बड़ी इथेरियम में निवेश कैसे करें नॉन-प्रोफिट ऑर्गेनाइजेशन है, का कहना है कि यह एथेरियम का समर्थन करती है. उसका यह भी कहना है कि ताजा अपग्रेड आगे ब्लॉकचेन अपडेट का मार्ग प्रशस्त करेगा जो सस्ते लेनदेन की सुविधा प्रदान करेगा.

मर्ज के बाद क्या बदलेगा?

एथेरियम नेटवर्क के आगामी अपग्रेड में बड़े बदलाव शामिल हैं. पहला - एक नई माइनिंग एल्गोरिदम है. माइनिंग के डिसेंट्रलाइजेशन के प्रयास में Proof of Work को एक नई एल्गोरिदम Proof of Stake के साथ रिप्लेस किया जा रहा है. इसे ASIC हार्डवेयर के लिए अधिक प्रतिरोधी होने के लिए डिज़ाइन किया गया है. एथेरियम का वर्तमान वर्जन स्मार्ट कॉन्ट्रैक्ट्स के लिए बुनियादी कार्यक्षमता का समर्थन करता है, लेकिन नई कार्यक्षमता शुरू करने की योजना है जो कॉन्ट्रैक्ट्स को अपने खुद के टोकन बनाने की अनुमति देगा. फिर उन टोकन को ETH होल्डर्स को डिविडेंड के रूप में डिस्ट्रीब्यूट किया जाएगा.

एथेरियम एक नई प्रोग्रामिंग लैंग्वेज लॉन्च कर रहा है जो डेवलपर्स को अधिक मजबूत डिसेंट्रलाइज्ड एप्लिकेशन बनाने में मदद करेगी. नई लैंग्वेज से सुरक्षित कोड लिखना आसान हो जाएगा और प्लेटफॉर्म पर नौसिखिए प्रोग्रामर्स के लिए भी प्रोग्रामिंग करना आसान हो जाएगा.

ETH नई फीचर्स भी लॉन्च कर रहा है जो डेवलपर्स को यह समझने में मदद करेंगे कि उनके कोड और EVM के बीच क्या हो रहा है. वे डिसेंट्रलाइज्ड एप्लिकेशन को आसान बनाने के लिए नई फंक्शनलिटी भी जोड़ रहे हैं.

एथेरियम मर्ज के लिए पुरानी टेक्नोलॉजी के डिज़ाइन का भी इस्तेमाल किया गया है. इसका मतलब है कि डेवलपर्स जो एथेरियम के वर्तमान वर्जन के आधार पर एप्लिकेशन बनाते हैं, उन्हें बिना कोई बदलाव किए कोड को नए नेटवर्क में ट्रासंफर करने में सक्षम होना चाहिए.

यूजर के लिए एथेरियम मर्ज के मायने?

अगर शॉर्ट-टर्म के लिहाज से देखा जाए तो, एथेरियम यूजर्स को बहुत ज्यादा अंतर नहीं दिखाई देंगे. सबसे बड़ा अंतर यह होगा कि एथेरियम नेटवर्क पर अधिक भार होने की संभावना है क्योंकि लोग अपने कॉइन्स को नए ब्लॉकचेन के अनुकूल वॉलेट में ट्रांसफर करते हैं. एथेरियम मर्ज अधिकांश लोगों के लिए निर्बाध होना चाहिए, लेकिन हमेशा एक मौका होता है कि कुछ अप्रत्याशित होता है.

यदि यह इथेरियम मर्ज मकसद के मुताबिक काम करता है, तो यूजर्स के लिए कोई बड़ा बदलाव नहीं होना चाहिए. नया नेटवर्क पुराने नेटवर्क का अपग्रेडेड वर्जन होगा, जिसमें समान कार्यक्षमता लेकिन बढ़ी हुई गति इथेरियम में निवेश कैसे करें और दक्षता होगी. जो यूजर वर्तमान में ETH ब्लॉकचेन का उपयोग करते हैं, वे अपग्रेड पूरा होने के बाद भी ऐसा करना जारी रखेंगे, लेकिन नया नेटवर्क पुराने का बेहतर वर्जन होगा.

डेवलपर्स के लिए एथेरियम मर्ज?

मर्ज उन डेवलपर्स को शानदार मौका देता है जो एथेरियम नेटवर्क पर काम करने में संकोच करते हैं. हाल के महीनों में कई मुद्दों ने एथेरियम के नेटवर्क को प्रभावित किया है, जिसमें लेन-देन का एक बैकलॉग और इसकी बढ़ती कीमत शामिल है, एक बार नया नेटवर्क लाइव होने के बाद यह हल हो जाएगा. पिछले कुछ महीनों में एथेरियम की कीमत में काफी गिरावट आई है, जिससे नई डेवलपमेंट टीमों को आकर्षित करना आसान हो जाएगा.

नेटवर्क मर्ज होने पर एथेरियम डेवलपर्स को अपने पुराने कोड में कोई बदलाव नहीं करना होगा. एथेरियम के वर्तमान वर्जन पर बनाए गए एप्लिकेशन नए नेटवर्क के साथ काम कर सकेंगे. यह उन डेवलपर्स के लिए अच्छी खबर है जो नेटवर्क के लिए प्रतिबद्ध होने से हिचकिचाते हैं, लेकिन इसका मतलब यह भी है कि नया एथेरियम अपडेट रिलीज होने पर उन डेवलपर्स को एक बार फिर से अपना कोड अपग्रेड करना होगा.

सुरक्षा के लिहाज से?

एथेरियम मर्ज को हाल के महीनों में नेटवर्क को प्रभावित करने वाले कुछ बड़े मुद्दों को हल करके ब्लॉकचेन को और अधिक सुरक्षित बनाने के लिए डिज़ाइन किया गया है. अपग्रेड ब्लॉकचेन पर ब्लॉक के आकार इथेरियम में निवेश कैसे करें को कम कर देगा, जिससे नोड्स को प्रोसेस करने के लिए आवश्यक डेटा की मात्रा कम हो जाएगी. यह नेटवर्क को और अधिक स्केलेबल बना देगा, जिससे सुरक्षा के समान स्तर को बनाए रखते हुए प्रति सेकंड अधिक ट्रांजेक्शन को प्रोसेस करना आसान हो जाएगा.

यह नोड्स चलाने वाले लोगों के लिए कम खर्चीले हार्डवेयर पर ब्लॉकचेन को स्टोर करना भी आसान बना देगा. यह नेटवर्क को स्पैम अटैक आदि से बचाने के काबिल बना देगा. अपग्रेड से नेटवर्क को सुरक्षित करने के लिए आवश्यक ऊर्जा की मात्रा भी कम हो जाएगी, जो इसे और अधिक पर्यावरण के अनुकूल बना देगा. यह एथेरियम के लिए एक महत्वपूर्ण अपग्रेड है, क्योंकि इससे डेवलपर्स के लिए प्लेटफॉर्म पर एप्लिकेशन बनाना और उपयोगकर्ताओं को नेटवर्क की ओर आकर्षित करना आसान हो जाएगा.

एथेरियम में कैसे निवेश कर सकते हैं?

एथेरियम में निवेश Staking के जरिए होता है. यह आपके ETH को लॉक करने और नए टोकन के रूप में रिवार्ड हासिल करने के लिए इसे एथेरियम नेटवर्क पर रखने की प्रक्रिया है. अपने ETH को लॉक रखते हुए अधिक टोकन प्राप्त करने का यह एक लोकप्रिय तरीका है, लेकिन इसकी कमियां हैं.

स्टेकिंग की बड़ी समस्या यह है कि आपको अपना रिवार्ड हासिल करने से पहले लंबे समय तक इंतजार करना पड़ता है. सेंट्रलाइज्ड एक्सचेंज एक समय में हफ्तों या महीनों के लिए पेमेंट में देरी के लिए बदनाम हैं, इसलिए आप कभी भी सुनिश्चित नहीं हो सकते कि कब आपको पेमेंट मिलेगा. हर बार जब आप एक्सचेंज से डिपोजिट या विद्ड्रॉल करते हैं तो आपको फीस देनी पड़ती है, इसलिए यदि आप पैसा नहीं खोना चाहते हैं, तो शायद आपको एक्सचेंज पर अपना ETH दांव पर नहीं लगाना चाहिए.

स्टेकिंग की एक और समस्या यह है कि इसके लिए आपकी ओर से बहुत अधिक प्रयास और समर्पण की आवश्यकता होती है. रिवार्ड हासिल करने के लिए, आपको अपना ETH नेटवर्क पर दांव पर लगाकर और हर कुछ मिनटों में ट्रांजेक्शन भेजकर रखना होगा. आप जितने अधिक एक्टिव होंगे, आप उतनी ही तेज़ी से रिवार्ड हासिल कर सकेंगे. यदि आप इस एक्टिविटी को जारी नहीं रखते हैं और अपने ETH को लंबे समय तक नेटवर्क पर छोड़ देते हैं, तो आपको उतना रिवार्ड नहीं मिलेगा जितना कि आप पूरे समय दांव पर लगा रहे थे.

(डिस्क्लेमर: क्रिप्टोकरेंसी में निवेश जोखिम भरा हो सकता है. अत: पाठकों को सलाह दी जाती है कि किसी भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने से पहले विशेषज्ञों की राय ज़रूर लें.)

Cryptocurrencies: क्रिप्टोकरेंसी क्या होती है ? क्रिप्टोकरेंसी में निवेश कैसे करें ? ये है पूरा प्रॉसेस

लोग क्यों कर रहे क्रिप्टोकरेंसी में निवेश, जानिए

crypto currency

क्रिप्टोकरेंसी क्या होती है ?

लोग क्यों यहाँ लगा रहे पैसा ?

क्रिप्टोकरेंसी का क्या है फायदा ?

क्या होती है डिजिटल करेंसी?

क्रिप्टो करेंसी दरअसल, वित्तीय लेन-देन का एक जरिया है। बिल्कुल भारतीय रुपये और अमेरिकी डॉलर के समान, अंतर सिर्फ इतना है कि यह आभाषी है और दिखाई नहीं देती, न ही आप इसे छू सकते हैं। इसलिए इसे डिजिटल करेंसी भी कहते हैं। इसका पूरा कारोबार ऑनलाइन माध्यम से ही होता है। जहां एक ओर किसी भी देश की करेंसी के लेन-देन के बीच में एक मध्यस्थ होता है, जैसे भारत में केंद्रीय बैंक, लेकिन क्रिप्टो के कारोबार में कोई मध्यस्थ नहीं होता और इसे एक नेटवर्क द्वारा ऑनलाइन संचालित किया जाता है। यही कारण है कि इसे अनियमित बाजार के तौर पर जाना जाता है, जो पल में किसी को अमीर बना देता है और एक झटके में उसे जमीन पर गिरा देता है। लेकिन बावजूद इस उतार चढ़ाव के इसको लेकर लोकप्रियता बढ़ती ही जा रही है।
Investment in Crypto Currencies: इस समय बिटक्वाइन सहित ज्यादातर मुख्य क्रिप्टोकरेंसी (crypto currency) में गिरावट देखने को मिल रही है. बिटक्वाइन, इथेरियम, डॉजक्वाइन, कार्डानो सहित ज्यादातर करेंसी अपने हाई से 30 फीसदी से ज्यादा टूट चुकी हैं. बहुत सारे निवेशक इस गिरावट में निवेश का मौका देख रहे हैं. वहीं, नए निवेशकों में अभी क्रिप्टो के प्रति आकर्षण बना हुआ है. लेकिन बहुत सारे निवेशकों के सामने बड़ा सवाल ये होता है कि इसमें निवेश कैसे करें. जिस प्रकार कंपनी के शेयरों की बीएसई और एनएसई जैसे एक्सचेंजों पर खरीद-बिक्री होती है, वैसे ही क्रिप्टो एक्सचेंजों पर बिटक्वाइन जैसे क्रिप्टो की खरीद-बिक्री होती है यानी कि आपको अगर बिटक्वाइन में निवेश करना है तो किसी एक्सचेंज पर जाकर आसानी से इसमें पैसे लगा सकते हैं.

निवेश का तरीका
क्रिप्टों में निवेश के लिए वजीरएक्स (WazirX), क्वाइनडेक्स (Coindex), जेबपे Zebpay, क्वाइनस्विच कुबेर (Coin Switch Kuber) और यूनोकॉइन UnoCoin जैसे एक्सचेंज हैं. क्रिप्टो में निवेश के लिए पहले आपको एक्सचेंज की साइट पर जाकर पर्सनल डिटेल्स के जरिए रजिस्ट्रेशन करना होगा. यानी डीमैट अकाउंट की तरह यहां भी आपको अपना अकाउंट खोलना होता है. फिर आप उस अकाउंट के जरिए निवेश कर सकते हैं.

स्टेपवाइज प्रॉसेस –
क्रिप्टो करेंसी की वेबसाइट पर जाकर साइन अप करिए.
फिर ई-मेल वेरिफिकेशन के बाद सिक्योरिटी पेज आएगा जिसमें ऐप, मोबाइल एसएमएस या कोई सिक्योरिटी विकल्प न चुनने का विकल्प आएगा. सिक्योरिटी विकल्स को ओके करने के बाद देश चुनने और केवाईसी चुनने का विकल्प मिलेगा. केवाईसी के तहत पर्सनल और कंपनी में से किसी एक को चुनना होता है जो बाय डिफॉल्ट पर्सनल पर होता है. केवाईसी के लिए अपनी व्यक्तिगत जानकारियां जैसे कि नाम, जन्म तिथि, पता, पैन कार्ड, आधार की डिटेल्स के साथ पैन कार्ड की फोटो, आधार कार्ड के फ्रंट व बैक साइड के साथ सेल्फी अपलोड करनी होती है. अकाउंट वेरिफाई होने के बाद आप क्रिप्टो में खरीदारी कर सकते हैं और इसका भुगतान अपने बैंक खाते से करना होगा.निवेश से पहले इन बातों का ध्यान रखना जरूरी हैं क्रिप्टो में निवेश करने की शुरुआत से पहले क्रिप्टोकरेंसी का अध्ययन करना और समझना बहुत महत्वपूर्ण है. क्रिप्टो बाजार में आसन्न जोखिमों की जानकारी अवश्य रखें. शुरू में कितना निवेश करना है इसका निर्णय व्यक्ति को निवेश के पैमाने पर आधारित होना चाहिए. शुरू कम निवेश से स्टार्ट करें.

क्रिप्टोकरेंसी को लेकर भारत में चिंता, जानें कैसे 1 हजार रुपये 24 घंटे में बन गये 2.37 इथेरियम में निवेश कैसे करें इथेरियम में निवेश कैसे करें करोड़ रुपये

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश जोखिम भरा है. क्रिप्टोकरेंसी आपको कंगाल या मालामाल कर सकती है. इन दिनों क्रिप्टोकरेंसी की खूब चर्चा है. यह सिर्फ 24 घंटे में ही 2,35000 पर्सेंट से ज्यादा उछल कर शानदार रिटर्न दे रहा है.

cryptocurrency in india

भारत समेत दुनिया भर के कई देशों में क्रिप्टोकरेंसी एक बड़े खतरे के रूप में देखा जा रहा है. भारत में भी सरकार इस पर जल्द रणनीति बनाने का ऐलान कर सकती है. एक तरफ क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बवाल मचा है तो दूसरी तरफ इसमें निवेश को लेकर चर्चाएं तेज हैं.

क्रिप्टोकरेंसी में निवेश जोखिम भरा है. क्रिप्टोकरेंसी आपको कंगाल या मालामाल कर सकती है. इन दिनों क्रिप्टोकरेंसी की खूब चर्चा है. यह सिर्फ 24 घंटे में ही 2,35000 पर्सेंट से ज्यादा उछल कर शानदार रिटर्न दे रहा है. इसकी उछाल को समझने की कोशिश करें तो यह ऐसे समझ सकते हैं कि अगर क्रिप्टोकरेंसी में 24 घंटे पहले किसी ने 1,000 रुपये लगाये थे तो यह यह पैसा 2.37 करोड़ रुपये में बदल गया. हालांकि इसमें कई लोगों ने ढेर सारा पैसा गंवाया भी है.

क्रिप्टोकरेंसी को रोकना मुश्किल, नियमों की सख्त जरूरत, संसदीय समिति के सदस्यों की राय

क्रिप्टोकरेंसी को रोकना मुश्किल, नियमों की सख्त जरूरत, संसदीय समिति के सदस्यों की राय

स्क्विड गेम्स बेस्ड SQUID (स्क्विड) और Kokoswap (KOKO) क्रिप्टोकरेंसीज में भी पिछले तेज उछाल देखा गया है. पिछले 24 घंटे में 2,35000 पर्सेंट से ज्यादा रिटर्न देने वाली क्रिप्टोकरेंसी इथेरियम मेटा है. इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट में क्वॉइनमार्केटकैप के डेटा के हवाले से बताया गया है कि इथेरियम मेटा में 24 घंटे में 2.35 लाख पर्सेंट से ज्यादा उछाल आया है

थेरियम मेटा पिछले 24 घंटे में 0.00000005033 डॉलर से 0.0001194 डॉलर के स्तर पर पहुंचा है. बाद में क्रिप्टोकरेंसी 0.00006449 डॉलर के लेवल पर पहुंच गई.क्रिप्टोकरेंसी (डिजिटल टोकन) का टोटल मार्केट कैप 85 लाख डॉलर से ज्यादा है.

संसद के शीतकालीन सत्र में क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार ला सकती है विधेयक

संसद के शीतकालीन सत्र में क्रिप्टोकरेंसी पर सरकार ला सकती है विधेयक

डेटा बताता है कि 50.01 बिलियन इथेरियम मेटा टोकन्स सर्कुलेशन में थे. यह क्रिप्टोकरेंसी नया नहीं है करीब तीन सालों से यह बाजार में है. क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कई देशों का रुख अलग - अलग है. कई देशों ने इसे लेकर रणनीति तैयार की है जबकि कई देश अब भी इस पर विचार कर रहे हैं.

Prabhat Khabar App :

देश, दुनिया, बॉलीवुड न्यूज, बिजनेस अपडेट, टेक & ऑटो, क्रिकेट और राशिफल की ताजा खबरें पढ़ें यहां. रोजाना की ब्रेकिंग न्यूज और लाइव न्यूज कवरेज के लिए डाउनलोड करिए

Cryptocurrency news: पोलकाडॉट में 16.5% और इथेरियम में 3.6% की आई तेजी

भारत के सबसे बड़े क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजों में इथेरियम में निवेश कैसे करें से एक वज़ीरएक्स ने लगभग 1,500 खातों को ब्लॉक कर दिया है.

  • Money9 Hindi
  • Updated On - October 14, 2021 / 05:05 PM IST

Cryptocurrency news: पोलकाडॉट में 16.5% और इथेरियम में 3.6% की आई तेजी

Cryptocurrency news: पिछले 24 घंटे में नौ शीर्ष क्रिप्टो करेंसीज तेजी के साथ ट्रेड कर रही हैं. पोलकाडॉट (Polkadot) में सबसे अधिक 16.55 फीसदी की तेजी दर्ज की गई, जिससे इसकी कीमत 41.42 डॉलर हो गई है. दूसरा सबसे बड़ा टोकन इथेरियम (Ethereum) 3.64 फीसदी बढ़कर 3,638.07 डॉलर पर पहुंच चुका है. दुनिया की सबसे पुरानी और सबसे बड़ी क्रिप्टो करेंसी बिटकॉइन (Bitcoin) 3.27 फीसदी बढ़कर 58,229.50 डॉलर की हो गई है. एक मात्र सोलाना (Solana) 0.16% गिरकर 150.19 डॉलर पर आ गई. वहीं डॉग कॉइन (Dogecoin), कारडानो (Cardano) और XRP में क्रमश: 3.57%, 2.16% और 1.29% की तेजी आई है.

ये हैं कीमतें

संदिग्ध ट्रेड्स की चिंताओं के चलते क्रिप्टो अकाउंट्स को किया गया ब्लॉक

सरकारी एजेंसियों द्वारा मनी लॉन्ड्रिंग के लिए क्रिप्टोकरेंसी के उपयोग का मुद्दा उठने के बाद संदिग्ध ट्रेड्स वाले ट्रेडिंग अकाउंट्स को क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजों द्वारा ब्लॉक किया जा रहा है. यह स्व-विनियमन ऐसे समय में इथेरियम में निवेश कैसे करें आया है, जब भारत ने अभी तक क्रिप्टोकरेंसी या उन पर कर लगाने के तरीके के बारे में कोई नियम नहीं बनाया है. उद्योग पर नज़र रखने वालों के अनुसार, पिछले कुछ महीनों में साइबर अपराध अधिकारियों, प्रवर्तन निदेशालय और आयकर विभाग ने चिंता जताई है.

इसके अलावा, विदेशी जांचकर्ता कुछ संदिग्ध खातों के संबंध में शीर्ष क्रिप्टो एक्सचेंजों से भी पूछताछ कर रहे हैं. भारत के सबसे बड़े क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजों में से एक वज़ीरएक्स ने लगभग 1,500 खातों को ब्लॉक कर दिया है. कुल मिलाकर इसे कानूनी प्रवर्तन एजेंसियों और विदेशी कानून प्रवर्तन एजेंसियों से 400 से अधिक के लिए अनुरोध प्राप्त हुए हैं.

दुनिया में सबसे ज्यादा क्रिप्टो करेंसी भारतीयों के पास: रिपोर्ट

पोर्टल ब्रोकरचूज के वार्षिक क्रिप्टो प्रसार सूचकांक द्वारा किए गए एक अध्ययन के अनुसार दुनिया में सबसे अधिक क्रिप्टो मालिक भारत में हैं. रिपोर्ट के अनुसार भारत में 10 करोड़ से अधिक क्रिप्टो मालिक हैं. इसके बाद अमेरिका और रूस का स्थान है.

मुद्रास्फीति से लड़ें. अपने निवेश पोर्टफोलियो के साथ (भाग II)

भले ही वैश्विक आरक्षित मुद्रा के रूप में अमेरिकी डॉलर की लंबी उम्र पर कई अर्थशास्त्रियों द्वारा सवाल उठाए जा इथेरियम में निवेश कैसे करें रहे हों, लेकिन अब यह एक बार फिर स्पष्ट हो गया है कि वित्तीय संकट के समय मुद्रा अभी भी गो-टू करेंसी है। इस वर्ष के दौरान, अधिकांश प्रमुख मुद्राओं के सापेक्ष, अमेरिकी डॉलर में तेजी से वृद्धि हुई है। उदाहरण के लिए, यूरो के सापेक्ष, अमेरिकी डॉलर ने इस लेखन के समय, इस वर्ष लगभग 11 प्रतिशत की सराहना की। इसका मतलब यह है कि जिन यूरो-आधारित निवेशकों के पास अपने पोर्टफोलियो में यूएसडी-मूल्यवर्ग की संपत्ति थी, उन्हें विनिमय दर में बदलाव से ही यूरो-ज़ोन में मुद्रास्फीति से काफी हद तक बचा लिया गया था।

फेडरल रिजर्व द्वारा मौद्रिक नीति को मजबूत करने के कारण, संयुक्त राज्य अमेरिका में तेजी से बढ़ती ब्याज दरों से सराहना की गई है, इस प्रकार यह यूएसडी-संप्रदाय ऋण को धारण करने के लिए इसे और अधिक आकर्षक बना देता है। साथ ही, ऊर्जा आत्मनिर्भर संयुक्त राज्य अमेरिका की आर्थिक संभावनाओं को कई लोगों द्वारा यूरोपीय संघ और जापान जैसे ऊर्जा आयात करने वाली अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में अधिक सकारात्मक माना जाता है। कुछ छोटे देशों की मुद्राएं हैं, जैसे कि स्विस फ्रैंक, जो इस वर्ष यूएसडी के मुकाबले बेहतर रही हैं। निश्चित रूप से, स्विट्जरलैंड पूरी तरह से ऊर्जा-स्वतंत्र नहीं है, हालांकि, यूरोपीय संघ और स्विट्जरलैंड के देशों के मुकाबले मुद्रास्फीति कम रही है, एक अच्छी तरह से काम करने वाले और स्वायत्त केंद्रीय बैंक के साथ एक सुरक्षित आश्रय देश के रूप में भी इसकी प्रतिष्ठा है, जिसने हाल ही में संकेत दिया था कि यह स्विश फ्रैंक को अनुमति देगा हस्तक्षेप करने के बजाय सराहना करना।

फिर भी, एक मजबूत मुद्रा अर्थव्यवस्था के निर्यात क्षेत्र को हेडविंड प्रदान कर सकती है और एक मजबूत यूएसडी विकासशील अर्थव्यवस्थाओं में कहर बरपा सकता है। इसलिए, भले ही समय अलग-अलग हो सकता है, आमतौर पर प्रमुख केंद्रीय बैंक दूसरों के सापेक्ष अपनी मुद्रा के मूल्य में कुछ स्थिरता प्रदान करने के लिए मिलकर आगे बढ़ते हैं। यूरोपीय सेंट्रल बैंक ने हाल ही में ब्याज दरों में भी तेजी से वृद्धि की और इसके जवाब में यूरो ने यूएसडी के सापेक्ष अपने कुछ नुकसानों का सामना किया। यह किस हद तक जारी रहेगा यह कई कारकों पर निर्भर करेगा, जिनमें से एक यह है कि अर्थव्यवस्थाएं उच्च ब्याज दरों पर कैसे प्रतिक्रिया देती हैं। यदि कुछ सदस्य राज्यों में यूरोज़ोन में आर्थिक गतिविधि में गिरावट और/या पैदावार बहुत तेज़ी से बढ़ती है, तो ECB को अपनी दर में वृद्धि को निलंबित करने के लिए मजबूर किया जा सकता है, जिससे यूरो और कमजोर हो सकता है। बढ़ती पैदावार न केवल मौद्रिक मजबूती के कारण होती है, बल्कि राजकोषीय नीतियां भी होती हैं और पूंजी बाजार में सरकारें किस हद तक उधार ले रही हैं, यह एक महत्वपूर्ण कारक है।

क्रिप्टो-उत्साही लोगों का टूटा हुआ सपना

यदि सपना यह था कि प्रमुख फ़िएट मुद्राओं के घटते वास्तविक मूल्य के समय में क्रिप्टोकरेंसी मूल्य का एक स्थिर भंडार बन सकती है, तो अब तक इस वर्ष यह साबित हो गया है कि यह सपना सच नहीं हुआ। प्रमुख क्रिप्टोकरेंसी और शेयर बाजारों के बीच संबंध इस साल मजबूत हुआ है, जिसका अर्थ है कि शेयर बाजारों के समान, वे भी नीचे हैं। यूएसडी के संदर्भ में इस साल अब तक बिटकॉइन में लगभग 52 प्रतिशत की गिरावट आई है और एथेरियम में लगभग 54 प्रतिशत की गिरावट आई है। दोनों ने हाल ही में कुछ मूल्य हासिल कर लिया है, विशेष रूप से इथेरियम विलय से पहले, जिसमें क्रिप्टोकरेंसी का ब्लॉकचेन âproof-of-workसे âproof-stakeâ की ओर बढ़ेगा। इससे इसके ऊर्जा उपयोग को कम किया जाएगा, और इसलिए कई अन्य कथित लाभों के साथ इसके पर्यावरणीय प्रभाव को कम किया जा सकेगा। कुल मिलाकर, क्रिप्टोकरेंसी में मूल्य बहुत अस्थिर रहा है, जो वास्तव में इसे एक सट्टा परिसंपत्ति वर्ग के अलावा कुछ भी होने की अनुमति देता है।

फिर भी, अगले वर्षों में डिजिटल करेंसी स्पेस में बहुत कुछ होता रहेगा। चीन के केंद्रीय बैंक ने एक डिजिटल युआन विकसित किया है, जिसका उपयोग वह वैश्विक व्यापार में यूएसडी के लिए एक प्रतिद्वंद्वी मुद्रा बनने के लिए प्रोत्साहित करने का इरादा रखता है। जवाब में, ECB और फेडरल रिजर्व भी क्रमशः यूरो और यूएसडी के डिजिटल संस्करण को लॉन्च करने के लिए अध्ययन कर रहे हैं। कैसे और अगर ये केंद्रीय बैंक द्वारा संचालित डिजिटल मुद्राएं मौजूदा क्रिप्टोकरेंसी को प्रभावित करेंगी और इस समय उनके मूल्यों का अनुमान लगाना मुश्किल है।

बॉन्ड और इक्विटीज

साथ ही बॉन्ड और इक्विटी मार्केट ने इस साल सकारात्मक सहसंबंध दिखाया है, जो वास्तव में दोनों परिसंपत्ति वर्गों के निवेशकों के लिए सकारात्मक नहीं रहा है। कुछ लोगों का तर्क है कि मुद्रास्फीति एक साथ मूल्य खोने वाले दोनों परिसंपत्ति वर्गों के पीछे मुख्य चालक है। मुद्रास्फीति पैदावार को बढ़ाती है क्योंकि निवेशकों को मुद्रास्फीति के लिए मुआवजा देने की आवश्यकता होती है ताकि उधार देने वाले पैसे पर वास्तविक रिटर्न उत्पन्न हो सके, जिससे बॉन्ड की कीमतें कम हो सकें। मुद्रास्फीति पर केंद्रीय बैंक की प्रतिक्रिया इसी तरह मुद्रा आपूर्ति को मजबूत करने में से एक रही है, जो अर्थव्यवस्था को ठंडा करती है और कंपनी की निचली रेखाओं को प्रभावित कर सकती है, जिससे इक्विटी की कीमतें कम हो जाती हैं। यह महत्वपूर्ण है, क्योंकि आधुनिक पोर्टफोलियो सिद्धांत यह मानता है कि बॉन्ड और इक्विटी के संयोजन से पोर्टफोलियो के जोखिम को कम किया जा सकता है। इसलिए, ऐसा हो सकता है कि रक्षात्मक मल्टी-एसेट पोर्टफोलियो ने वास्तव में इक्विटी-ओनली पोर्टफोलियो को कम प्रदर्शन किया है।

फिर भी, प्रत्येक परिसंपत्ति वर्ग के भीतर, कोई भी प्रकाश की किरणें पा सकता है। भाग I में, ऊर्जा से संबंधित इक्विटी के मूल्य में वृद्धि पर चर्चा की गई है। जो कंपनियां मार्जिन बनाए रखते हुए मुद्रास्फीति के बराबर कीमतें बढ़ाने में सक्षम हैं, उन्होंने बेहतर प्रदर्शन किया है। सामान्य तौर पर, मूल्य-उन्मुख शेयरों ने विकास-उन्मुख शेयरों की तुलना में बेहतर प्रदर्शन किया है। यदि कुछ अर्थशास्त्री प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में मंदी का अनुमान लगाते हैं, तो ऐसी कंपनियां हैं जो मंदी के समय में अच्छा प्रदर्शन करती हैं।

यदि कुछ भी हो, तो एक अनुभवी फंड मैनेजर का मूल्य केवल अधिक स्पष्ट हो गया है। मल्टी-एसेट फंड, जिनके पास समग्र पोर्टफोलियो के भीतर परिसंपत्ति वर्गों के भार को बदलने का जनादेश है, यदि फंड मैनेजर बाजारों को सही ढंग से पढ़ने में सक्षम हैं, तो वे अपने साथियों के सापेक्ष बहुत अच्छा कर सकते हैं। इसी तरह, इक्विटी-ओनली पोर्टफोलियो मैनेजर बहुत अच्छा कर सकते हैं यदि वे उन कंपनियों में निवेश करने में सक्षम हैं जो इन गतिशील बाजार परिस्थितियों में अच्छा प्रदर्शन करती हैं। ब्लैकटॉवर में, हम उन फंड मैनेजरों का चयन करने में आपकी मदद कर सकते हैं जो आपके निवेश पोर्टफोलियो पर वास्तविक रिटर्न प्रदान करने के लिए वर्तमान चुनौतीपूर्ण माहौल को नेविगेट कर सकते हैं। कृपया लिस्बन कार्यालय में हमसे संपर्क करने में संकोच न करें।

रेटिंग: 4.38
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 726
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *