शेयर ट्रेडिंग

एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें?

एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें?
इसके बाद 370 किलोमीटर वाली EEZ तक भारत तीन तरह के काम कर सकता है. भारत यहां नए द्वीपों को बनवा सकता है. किसी भी तरह का साइंटिफिक एक्सपेरिमेंट कर सकता है. इस क्षेत्र के प्राकृतिक संसाधनों का पूरा उपयोग केवल भारत ही कर सकता है. भारत की इस सीमा में सभी विदेशी जहाज और सबमरीन घुस सकते हैं, बशर्तें उन्हे इसके लिए एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? इनोसेंट पैसेज (Innocent Passage) का भरोसा दिलाना होता है. यानी वह युद्धपोत, सबमरीन या व्यापारिक जहाज भारत के लिए किसी तरह का खतरा नहीं है. ऐसा सभी देशों के साथ है.

Gross Domestic Product: - सकल घरेलू उत्पाद

क्या है सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी)?
Gross Domestic Product: सकल घरेलू उत्पाद (GDP) एक विशिष्ट समय एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? सीमा के भीतर किसी देश की सीमाओं के भीतर उत्पादित सभी परिष्कृत वस्तुओं और सेवाओं का कुल मौद्रिक या बाजार मूल्य है। समग्र घरलू उत्पादन की एक व्यापक एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? माप के रूप में, यह देश की आर्थिक सेहत के एक व्यापक स्कोरकार्ड के रूप में काम करता है। हालांकि जीडीपी की गणना आम तौर पर वार्षिक आधार पर की जाती है लेकिन कभी-कभी इसकी गणना त्रैमासिक आधार पर भी की जाती है। इस रिपोर्ट में शामिल इंडीविजुअल डाटा सेट वास्तविक अर्थों में दिए जाते हैं, इसलिए डाटा को कीमत परिवर्तनो और शुद्ध मुद्रास्फीति के लिए समायोजित किया जाता है।

मुख्य बातें
जीडीपी देश का आर्थिक स्नैपशॉट प्रदान करती है जिसका उपयोग किसी अर्थव्यवस्था के आकार और वृद्धि दर का अनुमान लगाने के लिए किया जाता है। जीडीपी की गणना तीन प्रकार से की जाती है, व्यय, उत्पादन या आय का उपयोग करने के द्वारा। विस्तृत जानकारी प्राप्त करने के लिए इसमें मुद्रास्फीति और जनसंख्या को समायोजित किया जा सकता है। हालांकि इसकी सीमाएं होती हैं, जीडीपी नीति निर्माताओं, निवेशकों और कंपनियों को रणनीतिक निर्णय निर्माण में दिशा निर्देश देने का एक प्रमुख माध्यम है।

धरती की सीमा का तो पता है. लेकिन किसी देश की समंदर की सीमा कैसे तय होती है?

By: ABP Live | Updated at : 27 Nov 2022 04:46 PM (IST)

समुद्री सीमा क्या होती है?

See Border: हर देश की अपनी सीमा होती है जहां तक उस देश का विस्तार होता है. किसी भी देश का अधिकार उसकी सीमाई जमीन तक ही सीमित रहता है. यह तो हुई जमीनी सीमा की बात, लेकिन बहुत से देश ऐसे भी हैं जो समंदर से मिलते हैं. ऐसे में, समंदर पर किस देश का कहां तक एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? अधिकार रहता है यह तय कैसे होता है? आइए आज इसी बारे में जानते हैं.

अंतरराष्ट्रीय समझौते से एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? होता है निर्धारण
सागरों और महासागरों पर देशों के अधिकार तय करने के लिए एक अंतरराष्ट्रीय समझौता हुआ था. इसे संयुक्त राष्ट्र की समुद्री कानूनी संधि (UNCLOS-1982) के अंतर्गत किया गया था. इसी समझौते से समुद्री सीमा से जुड़े नियम, कायदे और कानून भी तय होते हैं. इस नियम का मकसद दो देशों के बीच समुद्री सीमा को लेकर समझौता कराना है.

एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें?

अंग्रेजी संस्करण (English Version)

  • हमारे बारे में
    • मुख्य आयुक्त कार्यालय

    मुख्य आयुक्त के डेस्क से


    व्‍यापार करने में आसानी को बढ़ावा देने के सरकार एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? के एजेन्‍डा के अनुसार सभी हितधारकों को निरन्‍तर प्रोत्‍साहन देने एवं सहायता करने के लिए केन्‍द्रीय अप्रत्‍यक्ष कर एवं सीमाशुल्‍क बोर्ड के अधीन एक फील्‍ड संरचना के नाते दिल्‍ली सीमाशुल्‍क जोन वचनबद्ध है। लागू टैरिफ तथा व्‍यापार नीतियों के अनुसार न्‍याय संगत एवं पारदर्शी तरीके से राजस्‍व वसूली के लिए हम प्रयासरत हैं। हमारी कार्य योजना के हिस्‍से के रूप में, एक ओर हम व्‍यवसायियों को उनकी लागत प्रतिस्‍पर्द्धात्‍मकता को बढ़ाने, स्‍वैच्छिक अनुपालन को प्रोत्‍साहित करने तथा परस्‍पर विश्‍वास का निर्माण करने में उनकी मदद करने का प्रयत्‍न करते हैं और वहीं दूसरी ओर शुल्‍क चोरी, वाणिज्यिक धोखाधड़ी तथा तस्‍करी गतिविधियों को रोकने के उपाय करने के लिए भी संघर्षरत हैं । पूर्ण संदेश यहां पढ़ें

    व्‍यापार करने में आसानी को बढ़ावा देने के सरकार के एजेन्‍डा के अनुसार सभी हितधारकों को निरन्‍तर प्रोत्‍साहन देने एवं सहायता करने के लिए केन्‍द्रीय अप्रत्‍यक्ष कर एवं सीमाशुल्‍क बोर्ड के अधीन एक फील्‍ड संरचना के नाते दिल्‍ली सीमाशुल्‍क जोन वचनबद्ध है। लागू टैरिफ तथा व्‍यापार नीतियों के अनुसार न्‍याय संगत एवं पारदर्शी तरीके से राजस्‍व वसूली के लिए एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? हम प्रयासरत हैं। हमारी कार्य योजना के हिस्‍से के रूप में, एक ओर हम व्‍यवसायियों को उनकी लागत प्रतिस्‍पर्द्धात्‍मकता को बढ़ाने, स्‍वैच्छिक अनुपालन को प्रोत्‍साहित करने तथा परस्‍पर विश्‍वास का निर्माण करने में उनकी मदद करने का प्रयत्‍न करते हैं और वहीं दूसरी ओर शुल्‍क चोरी, वाणिज्यिक धोखाधड़ी तथा तस्‍करी गतिविधियों को रोकने के उपाय करने के लिए भी संघर्षरत हैं ।

    आयातक-निर्यातक कोड या आईईसी क्या है?

    अधिकांश कंपनियां अपने उत्पाद और सेवाओं को वैश्विक बाजार में लाकर उनका विस्तार कर रही हैं, जिसमें आयात और निर्यात शामिल हैं। चूंकि विदेशी लेनदेन को एक व्यावसायिक गतिविधि माना जाता है, इसलिए सरकार की आवश्यकताओं का भी पालन किया जाना चाहिए। आयातक-निर्यातक कोड एक बहुत ही महत्वपूर्ण शर्त है जिसे किसी भी ऑनलाइन लेनदेन को शुरू करने से पहले प्राप्त किया जाना चाहिए। इस लेख में, हम आईईसी कोड की व्याख्या करेंगे और एक प्राप्त करने के लाभों पर चर्चा करेंगे।

    --> --> --> --> --> (function (w, एक सीमा के भीतर व्यापार कैसे करें? d) < for (var i = 0, j = d.getElementsByTagName("ins"), k = j[i]; i

    Polls

    • Property Tax in Delhi
    • Value of Property
    • BBMP Property Tax
    • Property Tax in Mumbai
    • PCMC Property Tax
    • Staircase Vastu
    • Vastu for Main Door
    • Vastu Shastra for Temple in Home
    • Vastu for North Facing House
    • Kitchen Vastu
    • Bhu Naksha UP
    • Bhu Naksha Rajasthan
    • Bhu Naksha Jharkhand
    • Bhu Naksha Maharashtra
    • Bhu Naksha CG
    • Griha Pravesh Muhurat
    • IGRS UP
    • IGRS AP
    • Delhi Circle Rates
    • IGRS Telangana
    • Square Meter to Square Feet
    • Hectare to Acre
    • Square Feet to Cent
    • Bigha to Acre
    • Square Meter to Cent
रेटिंग: 4.11
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 584
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *