विश्‍व के बाजारों में ट्रेड करें

स्टार्टअप में निवेश

स्टार्टअप में निवेश
US based 'Tribe Capital' plans to invest $2 billion across Indian startups over next 2 years. — Indian Tech & Infra (@IndianTechGuide) October 20, 2022

Start Up India: अमेरिका की कंपनी ट्राइब कैपिटल भारत मे करेगी निवेश, भारतीय स्टार्टअप कंपनियों में लगाएगी 2 बिलियन डॉलर

अमेरिकी वेंचर कैपिटल फर्म ट्राइब कैपिटल भारत में बड़ा निवेश करने वाली है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगले दो वर्षों में, यह भारतीय स्टार्टअप्स में लगभग 2 बिलियन डॉलर की तैनाती की योजना बना रहा है.

अमेरिकी वेंचर कैपिटल फर्म ट्राइब कैपिटल भारत में बड़ा निवेश करने वाली है. एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि अगले दो वर्षों में, यह भारतीय स्टार्टअप्स में लगभग 2 बिलियन डॉलर की तैनाती की योजना बना रहा है.

ट्राइब कैपिटल के सीईओ, सह-संस्थापक और पार्टनर अर्जुन सेठी ने कहा, "वर्तमान में, हमारे पास $1.5 बिलियन एसेट अंडर मैनेजमेंट (AUM) है, जिसमें से 20% भारत में है." हम अगले दो सालों में 5-10 कंपनियों में बड़ी मात्रा में निवेश करेंगे."

US based 'Tribe Capital' plans to invest $2 billion across Indian startups over next 2 years.

— Indian Tech & Infra (@IndianTechGuide) October 20, 2022

(SocialLY के साथ पाएं लेटेस्ट ब्रेकिंग न्यूज, वायरल ट्रेंड और सोशल मीडिया की दुनिया से जुड़ी सभी खबरें. यहां आपको ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर वायरल होने वाले हर कंटेंट की सीधी जानकारी मिलेगी. ऊपर दिखाया गया पोस्ट अनएडिटेड कंटेंट है, जिसे सीधे सोशल मीडिया यूजर्स के अकाउंट से लिया गया है. लेटेस्टली स्टाफ द्वारा इसमें कोई बदलाव या एडिट नहीं किया गया है. सोशल मीडिया पोस्ट लेटेस्टली के विचारों और भावनाओं का प्रतिनिधित्व नहीं करता है, हम इस पोस्ट में मौजूद किसी भी कंटेंट के लिए कोई जिम्मेदारी या दायित्व स्वीकार नहीं करते हैं.)

स्टार्टअप में निवेश करने से पहले जानने योग्य बातें।

पैसे कमाई करने के उद्देश्य से कुछ लोग नौकरी करते हैं तो कुछ बिजनेस करते हैं स्टार्टअप में निवेश । ऐसे में कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो अपने पैसे को बढाने के लिए विभिन्न निवेश के विकल्पों में निवेश करते हैं। कुछ लोग निवेश स्टार्टअप में निवेश के सुरक्षित तरीकों को अपनाते हैं तो कुछ अधिक कमाई करने के लिए असुरक्षित एवं जोखिमपूर्ण विकल्पों को भी अपनाते हैं। ऐसे में कुछ लोग या कम्पनियाँ ऐसी भी होती हैं जो स्टार्टअप बिजनेस में निवेश करके अपनी कमाई को बढ़ाना चाहती हैं।

आज का हमारा यह लेख उन्हीं लोगों या कम्पनियों को ध्यान में रखकर लिखा जा रहा है जो किसी स्टार्टअप में निवेश करने के उत्सुक हैं। आम तौर पर जो व्यक्ति या कम्पनियाँ नए स्टार्टअप में निवेश करती हैं उन्हें वेंचर कैपिटलिस्ट कहा जाता है। इसलिए यदि आप भी एक वेंचर कैपिटलिस्ट हैं और किसी नए स्टार्टअप में कुछ पैसा निवेश करना चाहते हैं तो आपको काफी सारी सावधानियाँ अपनाने की आवश्यकता हो सकती है।

जैसा की हम सब जानते हैं की स्टार्टअप की सफलता की दर लगभग 10% है यानिकी प्रत्येक दस स्टार्टअप में केवल एक स्टार्टअप ही सफल हो पाता है। जी हाँ बिलकुल दस में से नौ स्टार्टअप किसी न किसी कारण असफलता के दरवाजे तक पहुँच जाते हैं। यही कारण है की किसी नए स्टार्टअप में पैसे निवेश करना बिलकुल भी सरल काम नहीं है।

क्योंकि आपको पता नहीं रहता है की आप अपने निवेश किये हुए पैसे भी वापस पा पाएंगे या नहीं । यही कारण है की अनेकों बार वेंचर कैपिटलिस्ट को निवेश किये गए पैसों को गंवाना स्टार्टअप में निवेश पड़ता है। इसलिए इस लेख में हम किसी स्टार्टअप में निवेश करने से पहले जानने योग्य बातों का जिक्र करेंगे ताकि इन वेंचर में निवेश करने के इच्छुक लोग अपनी मेहनत से कमाई हुई कमाई को गँवाएँ नहीं।

Things-you-need-to-know-before-investing-in-a-startup

Things-you-need-to-know-before-investing-in-a-startup

P ने 6 महीने के लिए स्टार्टअप में कुछ धन का निवेश किया। Q ने 6 महीने के लिए P की तुलना में 1,000 रुपए अधिक निवेश किए। 6 महीने के बाद, P ने अपनी धनराशि से 1,000 रुपए वापस निकाल लिए और Q ने भी 1,000 रुपए वापस निकाल लिए। एक वर्ष के अंत में अर्जित लाभ का अनुपात 37 : 39 है। प्रारंभ में Q द्वारा निवेश की गई धनराशि ज्ञात कीजिये।

SSC CGL 2021 Skill Test Dates Announced! The Skill Test will be taking place on 4th and 5th January 2023. The स्टार्टअप में निवेश SSC CGL Application Status for all Regions and SSC CGL Admit Card for NER, ER, WR, NWR, CR & MPR Regions is active. Candidates can log in to the regional website of SSC and check their application status. SSC CGL 2022 Tier I Prelims Exam will be conducted from 1st to 13th December 2022. The SSC CGL 2022 Notification was out on 17th September 2022. The SSC CGL Eligibility is a bachelor’s degree in the concerned discipline. This year, SSC स्टार्टअप में निवेश has completely changed the exam pattern and for the same, the candidates must refer to SSC CGL New Exam Pattern.

Ace your Profit and Loss preparations for Partnership with us and master Quantitative Aptitude for your exams. Learn today!

एग्री-टेक स्टार्टअप न्यूट्रीफ्रेश में वैश्विक निवेश

14 जून 2022, मुंबई । एग्री-टेक स्टार्टअप न्यूट्रीफ्रेश में वैश्विक निवेश – हाइड्रोपोनिकल तरीके से विकसित, ताजा, स्वच्छ, हरे, अवशेष-मुक्त और रसायन-मुक्त उत्पाद बनाने वाले एग्री-टेक स्टार्ट-अप न्यूट्रीफ्रेश ने प्री-सीरीज़ सीड फंडिंग 5 मिलियन डॉलर इकठ्ठा किए है। भारत के सबसे बड़े मिट्टी रहित खेतों (सॉइल-लेस फार्म्स) को बनाने के लिए इस फंडिंग का नेतृत्व श्री थियोडोर क्ली (आर्चर इन्वेस्टमेंट्स), श्री संदीप भामर (मैनेजिंग पार्टनर – ग्रीन फ्रंटियर कैपिटल), स्काई कर्ट्ज़ (प्योर हार्वेस्ट यूएई के सीईओ और कॉफाउंडर), श्री मैथ्यू साइरिएक (फ्लोरिंट्री एडवाइजर्स और ब्लैकस्टोन इंडिया के पूर्व एमडी), डॉ सौमित्र दत्ता (डीन इलेक्ट – सैद बिजनेस स्कूल, ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय), श्री शैशव धारिया (क्षेत्रीय सीईओ, लोढ़ा समूह), श्री करण गोशर (समर्थ्य निवेश सलाहकार एलएलपी) ने किया।

न्यूट्रीफ्रेशफार्म टेक फार्म्स प्राइवेट लिमिटेड के सह-संस्थापक संकेत मेहता ने फंडिंग के बारे में कहा, “टीम न्यूट्रीफ्रेश केंद्रित हाइड्रोपोनिक फार्मिंग लाने के लिए बेहद प्रतिबद्ध है जो मजबूत, तकनीक-सक्षम, आईओटी आधारित है और लगातार उत्पादन देता है। एग-टेक स्पेस में फंडिंग इसका प्रमाण है कि शहरी जीवन शैली में अवशेष मुक्त और गुणवत्ता वाली सब्जियां सबसे महत्वपूर्ण हैं और न्यूट्रीफ्रेश गुणवत्तापूर्ण खाद्य सुरक्षा लाने पर केंद्रित है। फंडिंग के मौजूदा दौर के साथ, न्यूट्रीफ्रेश का लक्ष्य उत्पादन क्षमता को बढ़ाना और उत्पादन प्रक्रिया में मानकीकरण लाना है, जिससे उच्च प्रतिस्पर्धात्मक बढ़त हासिल करने के लिए आवश्यक एसओपी के साथ खेतों को बढ़ाया जा सके। न्यूट्रीफ्रेश खुद को एक घरेलू ब्रांड के रूप में स्थापित करना चाहता है।”

इस फंडिंग का उपयोग कृषि में उत्पादकता को बढ़ाने, फसलों के विकास और गुणवत्ता पर नज़र रखने के साथ ही एक इंटीग्रेटेड फार्म-टेक प्लेटफार्म को बनाने और उसकी मार्केटिंग के लिए किया जाएगा। दो कृषि उद्यमियों संकेत मेहता और गणेश निकम द्वारा साथ मिलकर स्थापित किए गए न्यूट्रीफ्रेश का विज़न लगातार कीटनाशक मुक्त हाइड्रोपोनिक प्रोडक्ट्स उपलब्ध कराना है, जिससे भारतीय उपभोक्ताओं को साल भर पोषक तत्वों से भरपूर आहार मिलता रहे। न्यूट्रीफ्रेश गुणवत्ता पर अत्यधिक केंद्रित है और आईएसओ, एफएसएसएआई, एपीडा, एचएसीसीपी और ग्लोबल गैप जैसी संस्थाओं से मान्यता प्राप्त कर चुके कुछ उत्पादकों में से एक है।

42 से ज्यादा एसकेयू के साथ, न्यूट्रीफ्रेश भारतीय बाजार में 100 से अधिक बी2बी एग्रीगेटर्स और नेचर्स बास्केट, बिग बास्केट, स्विगी, किसान कनेक्ट और ज़ोमैटो हाइपरप्योर जैसे मॉडर्न ट्रेड एग्रीगेटर्स और डिलीवरी पार्टनर्स को अपने उत्पादों की आपूर्ति कर रहा है। उनके कृषि कार्यबल में 80% से अधिक महिलाएं हैं और न्यूट्रीफ्रेश का लक्ष्य उन्हें सबसे आधुनिक तकनीकों के साथ कुशल बनाना और पूर्ण आत्मनिर्भरता प्राप्त करना है।

ग्रीन फ्रंटियर कैपिटल के मैनेजिंग पार्टनर श्री संदीप भामर ने न्यूट्रीफ्रेश फार्म टेक फार्म्स प्राइवेट लिमिटेड में अपने फंड के निवेश के बारे में कहा, “न्यूट्रीफ्रेश के बारे में सबसे खास बात यह थी कि यह भारत के पश्चिमी क्षेत्र में सबसे बड़ी एक ही स्थान से नियंत्रित होने वाली पर्यावरण कृषि सुविधा में अपने मालिकाना हक़ वाले कृषि ऑपरेटिंग सिस्टम के जरिए उत्पादों की एक विस्तृत श्रृंखला पर एक व्यापक ज्ञान भंडार का निर्माण कर रहा था। साथ ही न्यूट्रीफ्रेश मुंबई और पुणे के लगभग 15,000 घरों को सीधे अपने उत्पाद बेच रहा है।

“हम न्यूट्रीफ्रेश को भारत में सबसे बड़ी सटीक कृषि कंपनी बनने और भारत भर में उपभोक्ताओं के लिए हाइड्रोपोनिकली उगाए गए उत्पाद लाने की यात्रा में मार्गदर्शन करते हुए खुश हैं।”स्काई कर्ट्ज़, प्योर हार्वेस्ट, यूएई ने कहा।

रेटिंग: 4.46
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 816
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *