विश्‍व के बाजारों में ट्रेड करें

लागत औसत

लागत औसत
4. यदि एक त्रिभुज के दो कोण cot -1 2 तथा cot -1 3 हैं, तो इसका तीसरा कोण है –

RSMSSB Forest Guard exam paper 12 November 2022 – Shift 2 (Answer Key)

RSMSSB Forest Guard exam paper 12 November 2022 – Shift 2 (Answer Key) : RSMSSB Forest Guard exam paper 12 November 2022 – Shift 2 with Answer Key. RSMSSB Forest Guard (वनरक्षक) exam paper held on 12 November 2022 – Shift 2 (evening shift) with Answer Key available. Rajasthan Subordinate & Ministerial Services Selection Board (RSMSSB) conducted Forest Guard (वनरक्षक) exam paper in two shifts on 12/11/2022 & 13/11/2022 in Rajasthan state.

Exam :- RSMSSB Forest Guard exam 2022 (वनरक्षक भर्ती परीक्षा 2020)
Exam Organiser :- Rajasthan Subordinate & Ministerial Services Selection Board (RSMSSB)
Exam Shift :- Second Shift (Evening shift) – 02:30 PM to 04:30 PM
Exam Date :- 12/11/2022
For Shift 1 Paper – Click Here
To view 13 November First Shift paper – Click Here

RSMSSB Forest Guard Exam Paper 12 November 2022 – Shift 2

1. दी गई आकृति में, ABCD एक चक्रीय चतुर्भुज है जिसकी भुजा AB, A, B, C और D से होकर जाने वाले . वृत्त का व्यास है। यदि ∠ADC = 130° है, तो ∠CAB ज्ञात कीजिए –

2. प्रथम दस विषम अभाज्य संख्याओं का औसत है –
(A) 15.8
(B) 17
(C) लागत औसत 12.9
(D) 13.8

3. 43582 के निकटतम संख्या जो 25, 50 और 75 में से प्रत्येक से विभाज्य है –
(A) 43550
(B) 43500
(C) 43600
(D) 43650

question number 4

4. यदि एक त्रिभुज के दो कोण cot -1 2 तथा cot -1 3 हैं, तो इसका तीसरा कोण है –

5. यदि एक निश्चित राशि पर 6 ¼ वर्ष में साधारण ब्याज अपने मूलधन का 3/8 भाग हो, तो वार्षिक ब्याज की दर है –

6. राजीव के कॉलेज और घर की दूरी 80 कि.मी. है। एक दिन वह कॉलेज जाने के लिए सामान्य समय से 1 घंटे लेट था, इसलिए उसने अपनी गति 4 कि.मी. /घंटा बढ़ा दी और वह सामान्य समय पर कॉलेज पहुंचा। राजीव की परिवर्तित (या बढ़ी हुई) गति क्या है ?
(A) 40 कि.मी.लागत औसत /घंटा
(B) 20 कि.मी./घंटा
(C) 30 कि.मी./घंटा
(D) 28 कि.मी./घंटा

7. दो संख्याएँ ‘A’ और ‘B’ ऐसी हैं कि A के 5% और B के 10% का योग A के लागत औसत लागत औसत 20% और B के 10% के योग का आधा है। A:B ज्ञात कीजिए।
(A) 1:3
(B) 2:1
(C) 1:1
(D) 1:2

8. A और B ने संयुक्त रुप से व्यवसाय शुरू किया। A का निवेश B के निवेश का तीन गुना था और उसके निवेश की अवधि B के निवेश की अवधि की दुगुनी थी। यदि B को लाभ के रूप में 4000₹ प्राप्त हुए, तो उनका कुल लाभ है –
(A) 28,000₹
(B) 16,000₹
(C) 20,000₹
(D) 24,000₹

9. A एक कार्य को 24 दिनों में कर सकता है। यदि B, A से 60% कि कुशल है, तो B को समान कार्य करने के लिए आवश्यक दिनों की संख्या है –
(A) 15
(B) 9.6 लागत औसत
(C) 10
(D) 17

10. यदि a=11 और b=9 है, तो का मान है –
(A) 2
(B) 20
(C) ½
(D) 1/20

11. एक ΔABC में, यदि 2∠A=3∠B=6∠C हो, तो ∠A बराबर है –
(A) 60°
(B) 30°
(C) 90°
(D) 120°

12. मोहन अपने भाई से दोगुना बड़ा है। 3 वर्ष पहले, मोहन की आयु उसके भाइयों की आयु की 3 गुना थी। मोहन की वर्तमान आयु की गणना करें।
(A) 6
(B) 12
(C) 16
(D) 14

13. 10% की छूट देने के बाद 25% का लाभ प्राप्त करने के लिए, दुकानदार को 360₹ लागत वाली वस्तु का मूल्य कितना अंकित करना चाहिए?
(A) 486₹
(B) 460₹
(C) 450₹
(D) 500₹

14. यदि किसी संख्या के 4/5 भाग और 3/4 भाग का अंतर 4 है, तो संख्या क्या है?
(A) 40
(B) 100
(C) 60
(D) 80

15. दो संख्याओं का अनुपात 34 है और उनका योग 420 है। दोनों संख्याओं में से बड़ी संख्या है –
(A) 180
(B) 360
(C) 240
(D) 200

16. फलों में मिठास का कारण है –
(A) लैक्टोज
(B) माल्टोज
(C) फ्रक्टोज
(D) राइयोज

17. यदि अवतल दर्पण में किसी वस्तु को स्थिति अनंत पर है, तो बनने वाला प्रतिबिम्ब है –
(A) आभासी, सीधा, आवर्धित
(B) वास्तविक, उल्टा. वस्तु के बराबर
(C) आभासी, सीया, वस्तु से छोटा
(D) वास्तविक, उल्टा, वस्तु से छोटा

18. एक समुद्री मील बराबर होता है –
(A) 2000 मीटर
(B) 1672 मीटर
(C) 1852 मीटर
(D) 2450 मीटर

19. लौंग, जो आमतौर पर इस्तेमाल किया जाने वाला मसाला है, किससे प्राप्त किया जाता है?
(A) तना
(B) जड़
(C) फूल की कली
(D) फल

20. रेयॉन के निर्माण में प्रयुक्त होने वाला मुख्य कच्चा माल है –
(A) रेडियम और आर्गन
(B) सिलिकॉन
(C) नायलॉन
(D) सेलूलोज़

गुजरात हर मानदंड में समृद्ध फिर मुफ्त की रेवड़ियां बांटने का वादा क्यों!

गुजरात सभी मायनों में समृद्ध लागत औसत राज्य है। साल 2020-21 में देश की प्रति व्यक्ति औसत आय 1,46,087 रुपये थी जबकि गुजरात में प्रति व्यक्ति औसत आय राष्ट्रीय औसत से 65 फीसदी अधिक यानी 2,41, 507 रुपये थी। गुजरात में 2015-16 में 18.6 फीसदी आबादी गरीब थी। यह आबादी दिसंबर में दो चरणों में होने वाले विधानसभा चुनाव में हिस्सा लेगी।

गुजरात की 182 सदस्यीय विधानसभा के लिए पहले चरण में 89 सीटों और दूसरे चरण में 93 सीटों पर चुनाव होगा। इस चुनाव में 4.09 करोड़ से अधिक मतदाता हिस्सा लेंगे। दूसरी तरफ हर तरह से गरीब के मामले में गुजरात से ज्यादा खराब प्रदर्शन पश्चिम बंगाल का रहा है। पश्चिम बंगाल में 21.43 फीसदी आबादी हर तरह से गरीब थी। इसके अलावा 11 राज्यों में गुजरात से ज्यादा गरीबी थी।

कोई भी यह तर्क दे सकता है कि हर तरह से गरीब की संख्या 2015-16 में जारी की गई थी। लिहाजा, करीब छह साल पुराने आकंड़ों से तस्वीर पेश की गई है। यदि कोई राष्ट्रीय परिवार स्वास्थ्य आंकड़े (एनएफएच) के 2019-21 के लागत औसत आंकड़े लेता तो राज्य राष्ट्रीय औसत से बहुत अलग नहीं होंगे।

जैसे 2019-20 में गुजरात में 73.5 फीसदी महिलाएं साक्षर थीं जबकि 2019-21 में अखिल भारतीय स्तर पर 71.5 महिलाएं साक्षर थीं। इस अवधि में राष्ट्रीय स्तर पर पुरुषों की साक्षरता दर 84.4 फीसदी थी जबकि गुजरात का औसत 87.4 फीसदी था। इस दौरान गुजरात में बेहतर साफ-सफाई की सुविधा से युक्त घरों की हिस्सेदारी 74 फीसदी थी जबकि इसका राष्ट्रीय औसत 70.2 लागत औसत फीसदी था। गुजरात में 1000 बच्चों पर शिशु मृत्यु दर 31.2 फीसदी थी जो राष्ट्रीय शिशु मृत्यु दर 35.2 फीसदी से कम थी।

हाल के दिनों में राष्ट्रीय औसत से अधिक उच्च मुद्रास्फीति की दर का सामना गुजरात कर चुका है। साल 2021-22 में राज्य की खुदरा मुद्रास्फीति की दर 5.5 फीसदी थी जबकि इस अवधि में इसका राष्ट्रीय औसत 5.3 था। राज्य में ऐसे रुझान इस वित्तीय वर्ष के शुरुआती छह महीनों में लागत औसत भी रहे। इन महीनों में गुजरात की मुद्रास्फीति की दर 7.8 फीसदी थी जबकि इसकी राष्ट्रीय औसत 7.2 फीसदी थी।

जाहिर है, राज्य के गरीब लोगों की मदद करनी है तो राज्य के पास संसाधन मौजूद हैं। राज्य की राजस्व प्राप्तियों में कर राजस्व की प्राप्ति करीब 55 फीसदी थी। साल 2021-22 और 2022-23 में यह अनुपात 60 फीसदी से अधिक हो सकता है। हालांकि इसके आंकड़े अभी उपलब्ध नहीं है। इसी तरह राज्य पर ऋण का बोझ भी काफी कम है।

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने चुनावों के दौरान गुजरात में हर परिवार को 300 यूनिट तक मुफ्त बिजली देने और बेरोजगार युवकों को 3000 रुपये प्रति माह देने का वादा किया है।

इसी तरह कांग्रेस ने 500 रुपये में रसोई गैस सिलिंडर उपलब्ध कराने का चुनावी वादा किया है। राज्य की हालिया आर्थिक स्थिति में ये चुनावी वादे आसानी से पूरे किए जा सकते हैं। इस मायने में गुजरात आसानी से मुफ्त में रेवड़ियां बांटने की कहीं बेहतर स्थिति में है लेकिन मुद्दा यह है : क्या ऐसा होना चाहिए?

नियंत्रक एवं महालेखा परीक्षक (सीएजी) की रिपोर्ट के मुताबिक राज्य ने 2016-17 में उधार ली गई 80.79 फीसदी राशि पूंजीगत व्यय पर खर्च की थी। यह खर्च चरणबद्ध ढंग से कम होता गया। साल 2020-21 में यह गिरकर 45.5 फीसदी पर आ गया था। यदि धन का इस्तेमाल मुफ्त की रेवड़ियां बांटने में किया जाता है तो उधारी रकम का उपयोग राजस्व व्यय में तेजी से बढ़ेगा। इसे राजकोषीय नजरिये से विवेकपूर्ण नहीं माना जाता है।

लागत औसत

नई दिल्ली. ट्विटर-फेसबुक के बाद अब गूगल की पैरेंट कंपनी अल्फाबेट करीब 10 हजार कर्मचारियों को निकालने की योजना बना रही है. मीडिया में आई खबरों के अनुसार कंपनी अपने कर्मचारियों के प्रदर्शन की लागत औसत समीक्षा कर रही है और रिव्यू में कमजोर प्रदर्शन करने वाले कर्मचारियों को निकाल दिया जाएगा. फिलहाल दुनिया की अन्य दिग्गज टेक कंपनियों की तरह है गूगल पर भी अपनी लागत घटाने का दबाव है और वो इसकी शुरुआत कर्मचारियों की संख्या घटा कर रहे हैं.

खबरों के अनुसार कंपनी हर 100 में से 6 कर्मचारियों को निकालने की तैयारी कर रही है. जो कि करीब 10 हजार कर्मचारियों के बराबर है. गूगल इसके लिए रैंकिंग सिस्टम का इस्तेमाल करेगा और रैंकिंग में सबसे नीचे आने वाले कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया जाएगा. खास बात ये है कि कुछ समय पहले गूगल ने बड़ी संख्या में लोगों की भर्तियां की थी. जिसके बाद विशेषज्ञों और निवेशकों ने कंपनी मैनेजमेंट को बढ़ती हुई लागत को लेकर चेतावनी देनी शुरू की.

अरबपति निवेशक क्रिस्टोफर हॉन ने शिकायत की थी कि गूगल नए कर्मचारियों की भर्ती के मामले में इंडस्ट्री के औसत से भी ऊपर निकल गई है. और जितनी भर्तियां हाल में हुई हैं वो कंपनी की जरूरतों से भी ज्यादा है. जिसके बाद गूगल ने ऐलान किया था कि वो चौथी तिमाही में भर्तियों की रफ्तार धीमी करेंगे. हालांकि अब इसी तिमाही में कंपनी छंटनी करने जा रही है.

दिग्गज निवेशक क्रिस्टोफर हॉन ने अल्फाबेट को एक खत लिखकर कहा था कि कंपनी में जरूरत से ज्यादा कर्मचारी काम कर रहे हैं. और इनकी संख्या को घटाने की जरूरत है. वहीं यूके के इस निवेशक ने मेल में ये भी लिखा की कंपनी के कर्मचारियों को इंडस्ट्री के औसत से कही ज्यादा वेतन मिल रहा है. और हाल के दिनों में औसत से ज्यादा भर्तियां भी हुई हैं. साल 2021 में गूगल के कर्मचारियों की औसत सैलरी करीब 3 लाख डॉलर यानि 2 करोड़ रुपये सालाना से ज्यादा थी. एक रिपोर्ट के मुताबिक अल्फाबेट अमेरिका की टॉप टेक कंपनियों से भी डेढ़ गुना ज्यादा सैलरी दे रही है.

2022-23 का समर्थन मूल्य क्या है [MSP बढ़ा]

2022-23 का समर्थन मूल्य क्या है samarthan mulya new msp list : खरीफ फसल एवं रबी फसल के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य 2022-23 जारी कर दिया गया है। प्रधान मंत्री लागत औसत श्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की मंत्रिमंडलीय समिति (सीसीईए) ने विपणन सीजन 2022-23 के लिए सभी अनिवार्य खरीफ फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) में वृद्धि को मंजूरी दे दी है।

सरकार ने उत्पादकों को उनकी उपज के लिए लाभकारी मूल्य सुनिश्चित करने और फसल विविधीकरण को प्रोत्साहित करने के लिए विपणन सीजन 2022-23 के लिए खरीफ फसलों के एमएसपी (msp) में वृद्धि की है, जैसा कि नीचे दी गई तालिका में दिया गया है।

रेटिंग: 4.34
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 815
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *