विश्‍व के बाजारों में ट्रेड करें

ट्रेडिंग का एक नया

ट्रेडिंग का एक नया
इधर जिला पंचायत अध्यक्ष का चुनाव हार चुके ऋषि लोधी ने जबरन लिए गए रुपयों की वापसी के लिए पंचायत बैठाई। जिसमें उन्होंने कहा कि कैसे दृगपाल सिंह लोधी इधर व उधर हो रहे थे। उन्होंने बताया कि जब वह चुनाव हार गए तो दृगपाल गौरव के पास गया था, जिसने कहा था कि मैंने अपना काम कर दिया अब अपना उपाध्यक्ष बना दें। यह बात ऋषि लोधी को खटक गई और वह मान रहे हैं कि दृगपाल सिंह ने उन्हें वोट नहीं दी है उनसे भी दगा किया है, जिससे वह अपना रुपया मांगने गए थे। उन्होंने कहा था कि मैंने जो 40 लाख दिए हैं, उसमें से 20 लाख रुपए वापस कर दो, लेकिन दृगपाल सिंह ने एक रुपया भी वापस नहीं किया।

Twitter Poll: सिर्फ एक माफी और ट्विटर पर बहाल हो जाएगा बंद हुआ अकाउंट! एलन मस्क का नया पोल

By: ABP Live | Updated at : 24 Nov 2022 09:18 AM (IST)

एलन मस्क का नया पोल

Twitter Suspended Accounts: ट्विटर के नए बॉस यानी एलन मस्क ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का अकाउंट बहाल करने के बाद अन्य निलंबित खातों की बहाली पर काम शुरू कर दिया है. ट्विटर पर ट्रेडिंग का एक नया वापसी के लिए सिर्फ एक माफी से काम बन सकता है. मस्क ने इसके लिए नया सर्वे जारी कर दिया है. अन्य अकाउंट्स की बहाली को लेकर अपने पोल्स में मस्क ने पूछा कि क्या ट्विटर को निलंबित खातों के लिए सामान्य माफी की पेशकश करनी चाहिए, बशर्ते कि उन्होंने कानून नहीं तोड़ा हो या गंभीर स्पैम में शामिल न हों?

एलन मस्क ने पोल्स में लोगों से 'हां' या 'न' में जवाब देने के लिए कहा है. 24 घंटे की विंडो वाले पोल सर्वे के नतीजे 25 नवंबर 2022 को रात तकरीबन 11.16 बजे (IST) आएंगे. इससे पहले मस्क ने अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के खाते को बहाल करने के लिए भी ऐसा ही सर्वे कराया था. इस सर्वे में 1.5 करोड़ से ज्यादा लोगों ने हिस्सा लिया था.

Shadi Fraud: दुल्हन पाने की जल्दीबाजी पड़ गई भारी, दो युवकों के साथ हुई ठगी, जान लीजिए शादी से जुड़ा नया पैंतरा

नवभारत टाइम्स लोगो

नवभारत टाइम्स 1 घंटे पहले

बांदा:

हर युवक के मन में दूल्हा बनने और दुल्हन पाने की लालसा होती है। कुछ लोग तो चट मंगनी पट शादी करना चाहते हैं। ऐसे ही दो युवक दुल्हन पसंद करने के बाद चट मंगनी पट शादी के चक्कर में लाखों रुपए गंवा बैठे, उनके हाथ दुल्हन भी नहीं आई। ठगी के शिकार हुए दोनों युवकों ने पुलिस में शिकायत दर्ज कराई है। अभी तक पुलिस को ठगों का कोई सुराग नहीं लगा है। दोनों घटनाएं बांदा ट्रेडिंग का एक नया जनपद के अतर्रा थाना क्षेत्र में घटित हुई हैं। पहली घटना 17 नवंबर को प्रकाश में आई। महोबा में तहसील कुलपहाड़ से नौगांव पोस्ट स्थित ग्राम खमा निवासी मुरारी लाल के मुताबिक वह अपने बेटे मदन पाल के लिए रिश्ता खोज रहे थे। गांव के निवासी राजेश के जरिए उसके साढू हरगोविंद निवासी मसूदपूरा से मुलाकात हुई। उन्होंने चित्रकूट में रैपुरा के भौंरी निवासी कौशल यादव से उनकी मुलाकात कराई।

Mutual Funds की खरीद-बिक्री भी होगी इनसाइड ट्रेडिंग का हिस्सा, ट्रेडिंग का एक नया ट्रेडिंग का एक नया SEBI ने किया नियमों में बदलाव

नई दिल्ली, । पूंजी बाजार नियामक SEBI ने म्यूचुअल फंड इकाइयों की खरीद और बिक्री को इनसाइडर ट्रेडिंग के दायरे में ला दिया है। वर्तमान में इनसाइडर ट्रेडिंग के नियम सूचीबद्ध कंपनियों या सूचीबद्ध होने के लिए प्रस्तावित प्रतिभूतियों पर लागू होते हैं। फिलहाल, म्यूचुअल फंड की इकाइयों को प्रतिभूतियों की परिभाषा से बाहर रखा गया था। सेबी का नया नियम नियम 24 नवंबर से प्रभावी हो गया है।

सेबी ने गुरुवार को जारी एक अधिसूचना में कहा कि कोई भी इनसाइडर किसी म्यूचुअल फंड की स्कीम की यूनिट्स में ट्रेड नहीं करेगा, अगर उसके पास प्राइस से संबंधित कोई सेंसिटिव जानकारी हो, जिसका किसी स्कीम की नेट एसेट वैल्यू पर महत्वपूर्ण प्रभाव हो सकता है या उससे जुड़े लोगों के हित प्रभावित हो सकते हैं।

नियमों में बदलाव की तैयारी

सेबी का नवीनतम निर्णय फ्रैंकलिन टेम्पलटन प्रकरण के बाद आया है, जिसमें फंड हाउस के कुछ अधिकारियों पर छह ऋण योजनाओं के बंद होने से पहले, उन योजनाओं में अपनी हिस्सेदारी को कैश कराने का आरोप लगाया गया था। नए नियमों के तहत, परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनियों (एएमसी) को अपनी म्यूचुअल फंड योजनाओं की इकाइयों में एएमसी, ट्रस्टियों और उनके निकट संबंधियों द्वारा स्टॉक एक्सचेंजों में होल्डिंग के विवरण का खुलासा करना होगा।

नियामक ने कहा कि म्यूचुअल फंड की इकाइयों में लेनदेन की तारीख से इसका पूरा विवरण और संपत्ति प्रबंधन कंपनी के नामित व्यक्तियों, ट्रस्टियों और उनके निकट रिश्तेदारों द्वारा चलाए जा रहे व्यवसायों के भीतर परिसंपत्ति प्रबंधन के बारे में कंपनी के अनुपालन अधिकारी को सूचित किया जाएगा।

नॉमिनेशन के लिए होगी ये व्यवस्था

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (सेबी) ने मौजूदा अंदरूनी व्यापार नियमों के प्रावधानों के अनुरूप नामित व्यक्तियों के लिए आचार संहिता का न्यूनतम मानक भी निर्धारित किया है। इनसाइडर ट्रेडिंग की रोकथाम के लिए सेबी ने कहा कि एक परिसंपत्ति प्रबंधन कंपनी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी या प्रबंध निदेशक, ट्रस्टी या अन्य समान व्यक्ति के अनुमोदन से पर्याप्त और प्रभावी तंत्र स्थापित करेंगे।

इनसाइडर ट्रेडिंग को रोकने के लिए लाए जा रहे इन नियमों में वे सभी कर्मचारी शामिल हैं जिनकी Unpublished Price Sensitive Information तक पहुंच है। सभी यूपीएसआई की पहचान की जानी चाहिए और इसकी गोपनीयता बनाए रखी जानी चाहिए।

2022 Tata Tigor EV का बैटरी पैक

इस इलेक्ट्रिक सिडैन में 26kWh लिक्विड-कूल्ड, हाई एनर्जी डेंसिटी बैटरी पैक, IP67 रेटेड बैटरी पैक और मोटर का इस्तेमाल किया गया है। यह सेटअप 55kW (54.2bhp) की मैक्सिमम पावर और 170Nm का पीक टॉर्क जनरेट करता है।

कंपनी Tata Nexon EV Prime की तरह, मौजूदा Tata Tigor EV कस्टमर्स को सॉफ्टवेयर अपडेट की सुविधा दे रही है। कस्टमर मुफ्त में इस फीचर अपडेट पैक का इस्तेमाल कर सकते हैं। इसके अलावा मौजूदा XZ+ और XZ+ DT कस्टमर iTPMS, मल्टी-मोड रीजेन और टायर पंचर रिपेयर किट के साथ स्मार्टवॉच कनेक्टिविटी अपग्रेड भी पा सकते हैं। ध्यान रहे कस्टमर Tata Motors के किसी भी अथोराइज्ड सर्विस सेंटर से इस सर्विस का बेनिफिट पा सकते हैं, जो कि सिर्फ 20 दिसंबर, 2022 उपलब्ध है।

2022 Tata Tigor EV की कीमत

2022 Tata Tigor EV की कीमत 12.49 लाख रुपये से शुरू होती है और 13.75 लाख रुपये तक जाती है। यह सभी कीमतें एक्स-शोरूम के मुताबिक हैं।

2022 Tata Tigor EV EX की कीमत 12.49 लाख रुपये है।
2022 Tata Tigor EV XT की कीमत 12.99 लाख रुपये है।
2022 Tata Tigor EV XZ+ की कीमत 13.49 लाख रुपये है।
2022 Tata Tigor EV XZ+ LUX की कीमत 13.75 लाख रुपये है।

  • Published Date: November 23, 2022 1:15 PM IST

दुनियाभर की लेटेस्ट tech news और reviews के साथ best recharge, पॉप्युलर मोबाइल पर मिलने वाले एक्सक्लूसिव offers के लिए हमें फेसबुक, ट्विटर पर फॉलो करें। Also follow us on Facebook Messenger for latest updates.

मध्यप्रदेश की राजनीतिक में हार्स ट्रेडिंग का खुलासा, सामने आया यह सच

election1_1.png

दमोह। जिला पंचायत चुनाव में हार्स ट्रेडिंग जमकर हुई है। यह खुलासा दतला गांव में कैबिनेट मंत्री दर्जा प्राप्त राहुल सिंह की अगुआई में लोधी समाज के वरिष्ठजनों की बैठक में सामने आया है। जिसका बाकायदा वीडियो भी वायरल हो रही है। इस पंचायत की पुष्टि जिला पंचायत सदस्य ऋषि लोधी कर रहे हैं जो जिला पंचायत सदस्य दृगपाल के घर तकादा करने गए थे।

जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में ऋषि लोधी ने अपनी मां को उम्मीदवार बनाया था। जिसके उन्होंने प्रत्येक सदस्य को 20-20 लाख रुपए का ऑफर किया था। बताया जा रहा है कि वोटिंग से पहले दृगपाल पहुंचे और उन्होंने रेट बढ़ाने की बात कही, जिस पर 20 लाख रुपए और अतिरिक्त दिए गए, इस तरह दृगपाल सिंह लोधी के पास 40 लाख रुपए जमा हो गए। ऋषि लोधी अतिरिक्त लिए गए 20 लाख रुपए मांगने के लिए दतला गांव पहुंचे जहां पर लोधी समाज के वरिष्ठजनों की पंचायत बिठाई थी। सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे इन वीडियो में पूरी कहानी सामने आ रही है। दृगपाल सिंह लोधी वोट देने की बात कहते हुए वीडियो में ही पैसे लौटाने से इंकार करते नजर आ रहे हैं।

रेटिंग: 4.17
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 461
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *