सर्वोत्तम उदाहरण और सुझाव

ADA क्या है?

ADA क्या है?
नमस्कार दोस्तों, आज हम बात करने वाले हैं ADA क्रिप्टोकरंसी फुल फॉर्म के बारे में, अगर आपको नहीं मालूम की ADA Full Form in Hindi में क्या होती है ? तो दुखी होने की कोई आवश्यकता ADA क्या है? नहीं है, क्योंकि आपका हमारे इस आर्टिकल में एडीए का फुल फॉर्म के साथ-साथ इससे जुड़ी काफ़ी जानकारी मिलने वाली है, जैसे की ADA को किसने बनाया है, इसकी शुरुआत कब हुई थी, ADA का इस्तेमाल क्या है, ADA किस क्रिप्टोकरंसी को टक्कर देना चाहता है ?और भी कई सवालों के जवाब आपको इस लेख में जानने को मिलने वाले है। तो चलिए बिना समय बर्बाद करे शुरू करते है।

ADA Full Form Hindi

एंटीडिफिशिएंसी एक्ट (ADA) संघीय एजेंसियों को अग्रिम या संघीय विनियोजन, विनियोग, या उन निधियों के कुछ प्रशासनिक उपखंडों से अधिक में संघीय निधियों को उपकृत या व्यय करने से रोकता है। 31 यू.एस.सी. 15 1341, 1517 (ए)। अधिनियम एजेंसियों को स्वैच्छिक सेवाओं को स्वीकार करने से भी रोकता है।

Definition : American Diabetes Association

ADA Meaning Hindi (Associations & Organizations)

अमेरिकन डायबिटीज एसोसिएशन (एडीए) एक संयुक्त राज्य अमेरिका-आधारित एसोसिएशन है जो मधुमेह के परिणामों से लड़ने और मधुमेह से प्रभावित लोगों की मदद करने के लिए काम कर रहा है।

ADA Full Form Hindi in Rules & Regulations

Definition : Americans with Disabilities Act of 1990

ADA Meaning Hindi (Governmental)

1990 के अमेरिकी विकलांग अधिनियम (एडीए) एक कानून है जिसे अमेरिकी कांग्रेस द्वारा अधिनियमित किया गया था। विकलांग अधिनियम (ADA) वाले अमेरिकियों को रोजगार, परिवहन, सार्वजनिक आवास, संचार और सरकारी गतिविधियों में विकलांग लोगों के साथ भेदभाव को प्रतिबंधित करता है।

ADA Full Form Hindi in Air Transport

Definition : Adana Airport

ADA Meaning Hindi (Transport & Travel)

अदाना एयरपोर्ट (IATA कोड: ADA, ICAO: LTAF) एक हवाई अड्डा है जो तुर्की के अदाना शहर में स्थित है।

ADA Full Form Hindi in Departments & Agencies

Definition : Aeronautical Development Agency

ADA Meaning Hindi (Governmental)

भारत के रक्षा मंत्रालय की वैमानिकी विकास एजेंसी (ADA) की स्थापना 1984 में बैंगलोर में राष्ट्र के लाइट कॉम्बैट एयरक्राफ्ट (LCA) के डिजाइन और विकास की देखरेख के लिए की गई थी।

AdA test क्यों किया जाता है?

ADA test खासकर pelural fluids के द्वारा टीबी जैसी बीमारियों का पता लगाने के लिए किया जाता है.जब भी किसी व्यक्ति को टीबी से जुड़ी समस्या होती है या उस व्यक्ति के परिवार में पहले किसी को टीबी की समस्या हो तो भी इस टेस्ट को कराने की सलाह दी जाती है.इसके आलावा भी अन्य बीमारियों में यह बढ़ सकता है.

ADA test कराने की डॉक्टर द्वारा तब दी जाती है जब डॉक्टर को यह लगता है कि मरीज को टीबी है या टीबी से जुड़े लक्षण दिखाई देते हैं तो यह टेस्ट कराने की सलाह दी जाती है. इसके निम्न लक्षण दिखाई दे सकते हैं जैसे कि -

  • लगातार हल्का बुखार रहना
  • वजन कम होना
  • कमजोरी महसूस होना
  • सिर दर्द करना या चक्कर आना
  • कम भूख लगना
  • सर्दी खांसी होना
  • कभी-कभी खाँसने में खून आना
  • सीने में दर्द

Ada test कराने से पहले क्या करें?

ADA test कराने से पहले किसी खास तरह के तैयारीयों की जरूरत नहीं होती है परन्तु यदि आप किसी दवाइयों का सेवन कर रहे हैं तो उसकी जानकारी डॉक्टर को जरूर दें. क्योंकि कुछ दवाईयों के कारण टेस्ट का परिणाम प्रभावित हो सकता है. इसलिए जब आप किसी डॉक्टर के पास जाए तो उसे अपने स्वास्थ्य और दवाइयों के बारे में पूरी जानकारी जरूर दें. ताकि डॉक्टर आपके बीमारी को समझ सकें और आपका ईलाज सही से कर सकें.

ADA test करने के लिए आपके लीवर फ्यूल्ड का सैम्पल लिया जाता है और फिर लैब में जाँच किया जाता है. यह टेस्ट हमारे शरीर के अन्य फ्यूल्ड से भी किया जाता है जैसे कि ADA क्या है? CSF fluid से तो इस स्थिति में आपका लंबर पंक्चर करके इस सैम्पल को निकाला जाता है और फिर लैब में जाँच किया जाता है. इस तरह के टेस्ट अधिकांशतः fully automated analyzer या semi auto analyzer के द्वारा ही किया जाता है.

ADA test के जोखिम -

ADA test करने के लिए आपके लीवर या लंबर पंक्चर करके सैम्पल लिया जाता है जिससे आपको थोड़ी सी समस्या हो सकती है जैसे कि चक्कर आना,थोड़ा दर्द, हैमोटैमा, या कमजोरी महसूस हो सकता है इसलिए आप थोड़ी देर बैठ कर आराम कर ले.उसके बाद ही कही जाए. यदि CSF fluid का सैम्पल लिया जाता है तो इससे हल्का दर्द हो सकता है.

यदि ADA test का परिणाम 100 unit/Litre से अधिक होता है तो इसका मतलब है कि व्यक्ति को टीबी का इंफेक्शन है.कई बार यदि व्यक्ति में टीबी के लक्षण दिखाई दे रहें हैं और उसका ADA level , 40 units/litre से ज्यादा हो तो भी टीबी होने का संकेत देता है.

इस टेस्ट का लेवल कई अन्य बीमारियों में भी बढ़ सकता है जैसे कि लिम्फोमा ,ल्यूपस और सारकॉइडासिस जैसे रोगों में भी यह बढ़ सकता हैं.

यह टेस्ट किसी भी बीमारी के लिए एक specific test नहीं है यानि कि सिर्फ इस एक टेस्ट के द्वारा किसी बीमारी का पता नहीं लगाया जा सकता है.इसलिए कई बार डॉक्टर इसके साथ अन्य टेस्टों को भी कराने की सलाह देते हैं.जैसे कि -

ADA test की कीमत कितनी होती है?

ADA test की कीमत अलग-अलग लैबों में अलग-अलग होती है जो समान्यत: 350-600 रूपए तक में हो जाता है. जब भी आप कोई टेस्ट कराए तो किसी अच्छे और मान्यता प्राप्त लैब के द्वारा ही कराए ताकि आपका टेस्ट अच्छे से हो और सही बीमारी का पता चल सके.

दोस्तों आपने आज के इस पोस्ट "ADA test in Hindi " के माध्यम से जाना कि ADA test क्या होता है और यह क्यों किया जाता है. साथ ही आपने और भी कई महत्वपूर्ण जानकारीयों के बारे में जाना. आशा करता हूं कि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा होगा और यदि आपको यह पोस्ट अच्छा लगा हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरूर करें. धन्यवाद.

Techtalk ashu

Posted by Techtalk ashu

Hello my dear friends.. I'm ashutosh.I am the owner of myhelpindex.in.In this blog I'm trying to give some knowledge about health, disease, Lab test and all about health. Thanks

ADA टेस्ट क्यों किया जाता है Why ADA Test Is Performed In Hindi

ADA टेस्ट का मुख्य उद्देश्य हमारे फ्लूइड या ब्लड में ADA का लेवल देखा जाता है। ताकी हम पता लगा सकें की मरीज को ट्यूबरक्यूलोसिस (T.B.) है की नहीं।

ADA टेस्ट के लिए सैंपल मुख्यता प्लूरल फ्लूइड, CSF फ्लूइड, एसाइटिक फ्लूइड, बॉडी के किसी हिस्से का फ्लूइड या ब्लड सैंपल होता है। यह सैंपल सिर्फ डॉक्टर ही निकालता है।

ADA टेस्ट क्या लक्षण देख कर डॉक्टर करवाता है What Are The ADA Symptoms In Hindi

वैसे तो ADA टेस्ट डॉक्टर ट्यूबरक्यूलोसिस (T.B.) की जानकारी के लिए करवाता है। लेकिन इसके अलावा डॉक्टर कुछ लक्षण भी देखता है ADA क्या है? जैसे

निमोनिया
लगातार डायरिया होना
लगातार बुखार आना और ठंड लगना
अचानक से वजन कम होना
लंबे समय से खांसी
लंबे समय से सीने में दर्द
पेट में पानी भर जाना
शरीर के किसी हिस्से में फ्लूइड जमा होने की आशंका

ADA टेस्ट की कीमत Price Of ADA Test In Hindi

ADA टेस्ट की कीमत हर शहर में अलग अलग होती है। लेकिन मुख्यता इसकी कीमत 700 रुपए के आस पास होती है।

यदि ADA की वैल्यू 40 U/L से कम है तो इसका मतलब है की टेस्ट निगेटिव है और मरीज को ट्यूबरक्लोसिस (T.B.) नहीं है और यदि ADA की वैल्यू 40 U/L से अधिक है तो मरीज को ट्यूबरक्लोसिस (T.B.) है।

एडेनोसीन डाईमिनेस (एडीए) टेस्ट के दौरान - Adenosine Deaminase Test Ke Dauran

एडेनोसीन डाईमिनेस (एडीए) कैसे किया जाता है?

प्लूरल इफ्यूजन की स्थिति में अनुभवी डॉक्टर बहुत स्वच्छता के साथ छाती में जमा हुऐ द्रव को निकालते हैं। कभी-कभी द्रव को थोरासेन्टिसिस प्रक्रिया द्वारा भी निकाला जाता है, इस प्रक्रिया में एक विशेष उपकरण को फेफड़ों में मौजूद खाली जगह में डाला जाता है और उसके माध्यम से हवा और द्रव निकाल लिया जाता है।

एसाइटिक इफ्यूशन में द्रव को निकालने के लिए पैरासेन्टिसिस नामक प्रक्रिया का प्रयोग किया जाता है।

उसी प्रकार द्रव को साइनोवियल कैविटी से भी निकाला जा सकता है और सीएसएफ द्रव को भी इस प्रक्रिया की मदद से निकाल कर जमा किया जा सकता है। जिस जगह पर द्रव को निकालने वाली ट्यूब डाली जाती है उस जगह को पहले एंटीसेप्टिक से साफ किया जाता है और एक रोगाणु रहित तकनीक का प्रयोग किया जाता है। शरीर में ट्यूब डालते समय मरीज को हल्का सा दर्द हो सकता है, लेकिन बाकी की पूरी प्रक्रिया सुरक्षित और सरल होती है।

एडीए टेस्ट के परिणाम और नॉर्मल रेंज - ADA Test Result and Normal Range

एडेनोसीन डाईमिनेस (एडीए) टेस्ट के नतीजे और नॉर्मल रेंज

  • सामान्य परिणाम:
    एडीए के एकत्रित होने के स्तर की सीरम, प्लूरल इफ्यूजन, साइनोवियरल द्रव, पेरिटोनियल द्रव और सेरिब्रोस्पाइनल फ्लूड (सीएसएफ) में जांच की जाती है। एडीए के सामान्य व असामान्य स्तर का पता लगाने के लिए किए गए कुछ अध्ययन बताते हैं कि ट्यूबरक्युलर इन्फेक्शन के लिए शुरुआती मान 40 यूनिट/लीटर (U)/L है। इसका मतलब यदि एडीए एकत्रित होने का स्तर 40 यूनिट/लीटर से कम है, तो यह संकेत देता है कि व्यक्ति को ट्यूबरक्युलर संक्रमण नहीं है। सीएसएफ का स्तर 10 आईयू/एल (इंटरनेशनल यूनिट्स प्रति लीटर) से कम स्तर इस बात का संकेत देता है कि व्यक्ति के दिमाग में ट्यूबरकुलर इन्फेक्शन नहीं है।
  • असामान्य परिणाम:
    यदि एडीए का स्तर 40 आईयू/एल से अधिक है, तो इसे असामान्य माना जाता है। उच्च संकेन्द्रण अधिकतर ट्यूबरक्लोसिस के मरीजों में प्लूरल, साइनोवियल या एसाइटिस इफ्यूजन में देखा जाता है। असामान्य नतीजे निम्न स्थितियों के होने के कारण हो सकते हैं:
    • फेफड़ों में द्रव जमा होने के साथ-साथ ट्यूबरकुलोसिस होना
    • साइनोवाइटिस के साथ रूमेटाइड आर्थराइटिस
    • ट्यूबरकुलोसिस एसाइटिस
    • ट्यूबरक्युलर लिम्फैडेनाइटिस
    • ट्यूबरक्युलर मैनिंजाइटिस
    • ट्यूबरक्युलस निमोनिया

    ADA Full Form in Hindi – एडीए फुल फॉर्म क्या है ?

    ADA Full Form की बात करे तो ADA का मतलब Cardano (कार्डानो) होता है, आपकी जानकारी के लिए बता दें कि कार्डानो को ‘पर्यावरण के अनुकूल’ क्रिप्टोकरेंसी के रूप में जाना जाता है क्योंकि इसका उद्देश्य बिटकॉइन के साथ देखी जाने वाली खनन प्रक्रिया के ऊर्जा-गहन भागों से बचना है। अगर आपको नहीं मालूम बिटकॉइन की माइनिंग के लिए काफी अधिक इलेक्ट्रिसिटी का इस्तेमाल होता है, जिसका सीधा प्रभाव पर्यावरण पर देखने को मिलता है, लेकिन कार्डानो के साथ ऐसा बिल्कुल नहीं है। बता दे की ‘proof of stake’ मॉडल वाली सबसे बड़ी क्रिप्टोकरंसी है। इस मॉडल के बारे में आसान भाषा में समझे तो इस मॉडल का मतलब है कि कार्डानो रखने वाले सभी लोग इसके निर्देश पर वोट कर सकते हैं।

    ADA Cardano क्रिप्टोकरंसी को चार्ल्स हॉकिंसन ने बनाया है, कार्डानो की स्थापना 2015 में एथेरियम के सह-संस्थापक चार्ल्स हॉकिंसन ने की थी। इस क्रिप्टोकरंसी में कुछ ही समय में काफी लोकप्रियता हासिल की है, अभी फिलहाल एक ADA कॉइन की कीमत 800 के आसपास है, लेकिन अनुमान लगाया जा रहा है कि साल के अंत तक एक ADA कॉइन की कीमत 15 से $20 तक पहुंच सकती है।

रेटिंग: 4.36
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 297
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *