शुरुआती लोगों के लिए अवसर

बिटकॉइन क्या है

बिटकॉइन क्या है

बिटकॉइन (Bitcoin)

बिटकॉइन दुनिया की सबसे पहली विकेंद्रीकृत क्रिप्टोकरेंसी या कहें कि डिजिटल कॉइन है. इसे विकेंद्रीकृत क्रिप्टोकरेंसी इसलिए कहा जाता है क्योंकि दुनिया की कोई भी फाइनेंशियल रेग्युलेटरी अथॉरिटी इस पर नियंत्रण नहीं रखती है. ये पीयर-2-पीयर सॉफ्टवेयर और क्रिप्टोग्राफी पर काम करती है.

बिटकॉइन के क्रिएशन को करीब एक दशक बीत चुका है. इन 10 सालों में ये दुनिया की सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बन चुकी है. इस लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी में लेनदेन के लिए बिटकॉइन ब्लॉकचेन का इस्तेमाल किया जाता है.

प्रत्येक बिटकॉइन 10,00,00,000 सैटोशिस से बना होता है, बिटकॉइन क्या है ये बिटकॉइन की सबसे छोटी इकाई है. इसे आप ऐसे समझ सकते हैं कि 1 रुपये में 100 पैसे होते हैं. ये यूनिट्स एक बिटकॉइन को 8 डेसिमल प्लेस में विभाजित करने लायक बनाती हैं. इसलिए लोग एक बिटकॉइन को कई टुकड़ों में खरीद पाते हैं.

ये बात ध्यान रखने वाली है कि बिटकॉइन जैसा वास्तव में कोई सिक्का या नोट नहीं होता. इसे एक सार्वजनिक खाते में केवल बैलेंस रिकॉर्ड के तौर पर रखा जाता है. बिटकॉइन से जुड़े सभी लेनदेन को रजिस्टर करने में भारी मात्रा में कंप्यूटिंग पावर इस्तेमाल होती है. इसी प्रोसेस को ‘माइनिंग’ कहा जाता है.

जैसे पहले बताया गया है कि बिटकॉइन को दुनिया के किसी देश की सरकार या वित्तीय संस्था, बैंक इत्यादि जारी नहीं करते हैं. बल्कि दुनिया के कई देशों में इसे वैध मुद्रा तक नहीं माना जाता है. लेकिन एक बात है कि बिटकॉइन के लोकप्रिय होने के बाद से ही दुनिया में कई और क्रिप्टोकरेंसी लॉन्च की गईं.

Cryptocurrency Prices Today: बिटकॉइन, एथेरियम लाल रंग में, जानिए बाकी करेंसी का क्या है हाल

Cryptocurrency Prices Today Bitcoin Ethereum XRP Cardano अमेरिका में ब्याज दर बढ़ने के बाद से दुनिया के क्रिप्टो करेंसी मार्केट में गिरावट जारी है। बिटकॉइन 20000 डॉलर के नीचे और एथेरियम 1300 डॉलर के आसपास कारोबार कर रहा है।

नई दिल्ली, बिजनेस डेस्क। क्रिप्टो करेंसी बाजार रविवार को सुस्त नजर आ रहा है। बिटकॉइन, एथेरियम समेत दुनिया की बड़ी क्रिप्टो करेंसी हल्की गिरावट के साथ कारोबार कर रही हैं। दुनिया का कुल क्रिप्टो बिटकॉइन क्या है मार्केट कैप पिछले 24 घंटे में 0.98 प्रतिशत गिरकर 937 बिलियन डॉलर पर आ गया है।

Ciinmarketcap.com के मुताबिक, पिछले 24 घंटे में बिटकॉइन की कीमत 0.90 प्रतिशत गिरकर 19,349 डॉलर, एथेरियम की कीमत 1.58 प्रतिशत गिरकर 1,310 डॉलर, एक्सआरपी की कीमत 0.54 बढ़कर 43.43 डॉलर, कार्डानो को कीमत 0.06 प्रतिशत बढ़कर 36.42 डॉलर हो गई है।

Ministers

क्रिप्टो करेंसी यूजर्स की बड़ी संख्या

क्रिप्टो करेंसी जैसे बिटकॉइन और एथेरियम पिछले कुछ सालों में लोगों के बीच लोकप्रिय हो गए हैं। लेन-देन में आसानी और अधिक रिटर्न के कारण बड़ी संख्या में पूरी दुनिया में लोग इसमें निवेश करते हैं। एक अनुमान के मुताबिक, पूरी दुनिया में लगभग 32 करोड क्रिप्टो यूजर्स हैं। लेकिन क्रिप्टो में सबसे बड़ी कमी यह है कि इसका अधिक उपयोग करने के कारण पर्यावरण पर प्रतिकूल असर पड़ता है।

Retirement investment top five Schemes in India (Jagran News)

व्हाइट हाउस की ओर से जारी की गई एक रिपोर्ट के मुताबिक बिटकॉइन क्या है पूरी दुनिया में क्रिप्टो के द्वारा उपयोग की जाने वाली बिजली की मांग साल दर साल तेजी से बढ़ती जा रही है। अगस्त 2022 में लगाए गए अनुमानों में बताया गया कि वैश्विक स्तर पर क्रिप्टो एसेट्स के द्वारा उपयोग की जाने वाली बिजली 120 से लेकर 240 बिलियन किलोवाट सालाना तक पहुंच सकती है और यह दुनिया के बड़े देश जैसे अर्जेंटीना और ऑस्ट्रेलिया की ओर से उपयोग की जाने वाली कुल बिजली से अधिक है।

Kaynes Techonology India IPO List at 32 Percent Premium (Jagran File Photo)

ग्रीन क्रिप्टो पर जोर

इसी समस्या का हल करने के लिए हाल ही में दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टो करेंसी एथेरियम ने अपने सिस्टम को 'प्रूफ ऑफ वर्क' से 'प्रूफ ऑफ स्टेक' पर शिफ्ट किया है। एथेरियम के सह-संस्थापक विटालिक ब्यूटिरिन ने ट्वीट किया था कि एथेरियम मर्ज से पूरी दुनिया की बिजली खपत में 0.2 प्रतिशत की कमी आएगी।

बिटकॉइन क्या है ?

हम सभी ने रुपये, डॉलर, पाउंड, आदि जैसे कागज़ी मुद्रा का इस्तेमाल किया है। अगर हम आपसे कहें कि एक ऐसी मुद्रा है जिसे आप स्पर्श नहीं कर सकते, न देख सकते हैं, लेकिन इलेक्ट्रॉनिक रूप से फोन, कंप्यूटर या अन्य इलेक्ट्रॉनिक स्टोरेज डिवाइसेस में संग्रहीत कर सकते हैं।

बिटकॉइन एक ऐसी ही डिजिटल मुद्रा है। यह न तो एक सिक्का है और न ही एक पेपर है लेकिन डिजिटल वॉलेट में जमा एक डिजिटल मुद्रा है।

भारतीय रिज़र्व बैंक कई कारकों का विश्लेषण करने के बाद रुपए का मूल्य निर्धारित करता है पर बिटकॉइन में कोई केंद्रीयकृत नियंत्रण प्राधिकरण नहीं है। इसका मूल्य पूरी तरह से इसकी मांग और आपूर्ति (demand and supply) के आधार पर निर्धारित होता है।

बिटकॉन्स ( बिना किसी बैंक के द्वारा) एक व्यक्ति से दूसरे को इंटरनेट के माध्यम से ट्रांसफर किये जाते है। आप बिटकॉइन का उपयोग करके इंटरनेट पर चीजें इत्यादि खरीद और बेच सकते हैं।

भारत में हालांकि बहुत ही कम लोग हैं जो मुद्रा के रूप में बिटकॉइन को स्वीकार करते हैं। भारत में अधिकांश लोग सट्टा निवेश उद्देश्यों के लिए बिटकॉइन खरीदते हैं।

एक तरफ सामान्य मुद्रा को सेंट्रल बैंकों द्वारा मुद्रित (छापा) किया जाता है वहीँ दूसरी तरफ बिटकॉइन खनन होते हैं।बिटकॉइन को प्रिंट नहीं किया जाता | बिटकॉन्स की शुरुआत 2009 में हुई थी और 2040 तक कुल 2.1 करोड़ बिटकॉइन होंगे। वर्तमान में करीब 12 लाख बिटकॉइन प्रसार में हैं।

Cryptocurrency prices today: बिटकॉइन में 6% की गिरावट, जानिए दूसरी करेंसी बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन क्या है का क्या है हाल

जेरोम पॉवेल के जैक्सेन होल स्पीच के बाद इक्विटी मार्केट की तरह ही क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में गिरावट देखने को मिली है

बिटकॉइन 21,000 डॉलर के नीचे नजर आ रहा है। दुनिया की सबसे बड़ी और पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन 6 फीसदी से ज्यादा टूटकर 20,298 डॉलर पर दिख रहा है।

Cryptocurrency prices today: क्रिप्टोकरेंसी की कीमतों में आज गिरावट देखने को मिली है। बिटकॉइन 21,000 डॉलर के नीचे नजर आ बिटकॉइन क्या है रहा है। दुनिया की सबसे बड़ी और पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन 6 फीसदी से ज्यादा टूटकर 20,298 डॉलर पर दिख रहा है। ग्लोबल क्रिप्टो मार्केट कैप 1 लाख करोड़ डॉलर के ऊपर नजर आ रहा है। पिछले 24 घंटों में ग्लोबल क्रिप्टों मार्केट में 6 फीसदी की गिरावट देखने को मिली है औऱ यह 1.02 लाख करोड़ डॉलर पर नजर आ रहा है। यह आंकड़ें CoinGecko पर आधारित है।

दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी क्रिप्टोकरेंसी ईथर में पिछले 24 घंटों में 10 फीसदी से ज्यादा की गिरावट देखने को मिली है औऱ यह 1,509 डॉलर पर नजर आ रही है। इस बीच dogecoin में पिछले 24 घंटों में 7 फीसदी की गिरावट आई है और यह 0.06 डॉलर पर नजर आ रहा है। इसी तरह Shiba Inu 10 फीसदी गिरकर 0.000013 डॉलर पर नजर आ रहा है।

बिटकॉइन माइनिंग का क्या मतलब है

बिटकॉइन के बारे में आपको थोड़ा बहुत तो आइडिया होगा ही। ऐसे में आप यह भी जानते होंगे कि किस प्रकार से दिनों दिन Bitcoin का रेट बढ़ता ही जा रहा है, जिसके पास बिटकॉइन है वह बहुत ही जल्द अमीर होता जा रहा है। क्या आपने कभी इस बात पर विचार किया है, कि आखिर यह बिटकॉइन कहां से आता है और इसका Circulation अर्थात बिटकॉइन की माइनिंग किस प्रकार से होती है, इससे जुड़ी सभी जानकारी आपको आज हमारी बिटकॉइन क्या है इस ब्लॉग पोस्ट में मिल जाएगी।

बिटकॉइन क्या है ?

Table of Contents

बिटकॉइन एक प्रकार से वर्चुअल करेंसी/ crypto currency है। इस मुद्रा का उपयोग इंटरनेट के माध्यम से लेन देन के लिए किया जाता है। इसकी सबसे पहले शुरुआत 2009 में हुई थी, चूंकि वर्तमान के समय में धीरे-धीरे यह बहुत अधिक लोकप्रिय होती जा रही है। अतः आज एक बिटकॉइन की कीमत लाखों रुपए के रूप मे आंकी जाने लगी है। दूसरे शब्दों में कहें तो अब इस करेंसी को भविष्य की करेंसी के रूप में देखा जा रहा है।

आप सभी को पता होगा की Crypto currency एक Decentralized currency होती है।इसका मतलब है कि किसी भी कंट्री/सरकार का इसपर कोई विशेषाधिकार नहीं होता है। अतः अब सवाल आता है इस करेंसी को कौन उत्पन्न करता है? बता दें बिटकॉइन के संचालन हेतु इसके डाटा को दुनिया के विभिन्न देशों में बैठे हजारों की संख्या में Miners कंट्रोल करने में जुटे होते हैं। यही वजह कि इसे Decentralized सिस्टम नाम से पुकारा जाता है।

बिटकॉइन माइनिंग क्या है ?

बिटकॉइन माइनिंग का नाम सुनते ही आप सोच में पड़ गए होगे कि क्या बिटकॉइन कोयले या हीरे की खानों से संबंध रखता है, अगर आप ऐसा सोचते हैं तो बता दें कि ऐसा बिल्कुल भी नहीं है। बिटकॉइन बिटकॉइन क्या है माइनिंग का अर्थ सोने और हीरे की माइनिंग से कतई नहीं है। हालांकि दोनों की माइनिंग की प्रक्रिया एक दूसरे से काफी अलग है, जिस प्रकार से गोल्ड और डायमंड माइनिंग करने के लिए खुदाई की जाती है वैसे ही बड़े बड़े कंप्यूटर हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर के जरिए बिटकॉइन को जेनरेट करने का कार्य करते है।

बिटकॉइन माइनिंग की प्रोसेस क्या है ?

  • बिटकॉइन माइनिंग एक बहुत ही बड़ा प्रोसेस है,जिसकी वजह से यह एक व्यक्ति के द्वारा कंट्रोल नहीं किया जा सकता है। इसलिए इस काम को करने के लिए बहुत सारे लोगों की जरूरत पड़ती है। बहुत सारे लोगों द्वारा किए जाने के कारण इसे Decentralized system भी कहते हैं।
  • अगर आपने बिटकॉइन के माध्यम से कभी किसी भी प्रकार का पेमेंट किया है। अर्थात अपने bitcoin वॉलेट के माध्यम से अपने किसी अन्य व्यक्ति के वॉलेट में बैलेंस को ट्रांसफर किया है तो बता दें इस कार्य में बिटकॉइन Miners अहम भूमिका निभाते है।
  • उन्हीं के कारण आप सफलतापूर्वक ट्रांसफर कंप्लीट कर पाते हैं,यही नहीं Miners सारी डिटेल Block chain में सेव करने का जिम्मा भी उठाते हैं।
  • बता दें लेनदेन के अलावा Bitcoin Miners बिटकॉइन जेनरेट करने का भी कार्य करते है।

बिटकॉइन माइनिंग कैसे करें?

  • पुराने समय में बिटकॉइन माइनिंग एक अच्छी रफ़्तार वाले कंप्यूटर के सी.पी.यु और वीडियो ग्राफ़िक्स कार्ड पर हो सकती थी कयोंकि उस समय बिटकॉइन माइनर्स बहुत कम थे। लेकिन आज बिटकॉइन माइनर्स की संख्या बढ़ने के साथ साथ इसकी माइनिंग करना थोड़ा कठिन हो चुका है।
  • आजकल इसकी माइनिंग कस्टम बिटकॉइन ASIC चिप की मदद से की जा रही हैं क्योंकि इससे काफी लाभ प्राप्त कर सकते हैं। अगर हम ASIC चिप से कम रफ्तार वाले किसी हार्डवेयर का इस्तेमाल करते हैं तो उससे अधिक बिजली खर्च होती है जिसकी वजह से हमारा लाभ कम और नुकसान बिटकॉइन क्या है बिटकॉइन क्या है ज़्यादा होता है।
  • बिटकॉइन की माइनिंग करने के लिए यह अधिक ज़रूरी है कि आप बिटकॉइन माइनिंग के लिए बने हार्डवेयर का ही इस्तेमाल करें। मार्किट में ऐसी कई कंपनियां है जो कि बिटकॉइन माइनिंग के लिए तैयार श्रेष्ठ हार्डवेयर की पेशकश करती हैं। Avalon इन में से एक कंपनी है।
  • इसके अलावा आप बिटकॉइन की क्लाउड माइनिंग भी कर सकते हैं जिसमें आपको अपने कंप्यूटर को क्लाउड मायननर से कनेक्ट करना होता है। क्लाउड माइनिंग करने के लिए कई तरह के प्रोग्राम उपलब्ध है लेकिन CGminer और BFGminer इनमें से अधिक प्रसिद्ध प्रोग्राम हैं। ऐसे कई सॉफ्टवेयर भी हैं जिनसे आप बिटकॉइन माइनिंग कर सकते हैं।

बिटकॉइन के फायदे क्या है?

बिटकॉइन के फायदे निम्नलिखित हैं –

  • बिटकॉइन में निवेश करके अच्छा रिटर्न पाने की संभावनाएं अपार होती है।
  • क्रिप्टोकरेंसी का बाजार 24/7 खुला रहता है।
  • बिटकॉइन में निवेश करने के लिए किसी भी तरह का पेपर वर्क नहीं करना बिटकॉइन क्या है पड़ता है।
  • बिटकॉइन में निवेश करने पर पूरा कंट्रोल व्यक्ति के हाथ में होता है।
  • बिटकॉइन में निवेश करके आप ग्रो कर रही कम्युनिटी का हिस्सा बन सकते हैं।

बिटकॉइन के नुकसान क्या है?

जहां बिटकॉइन के बहुत से फायदे हैं तो वहीं इसके कुछ नुकसान भी हैं, तो चलिए एक नजर इसके नुकसान पर डाल लेते हैं।

रेटिंग: 4.67
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 791
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *